लॉकडाउन: तमिलनाडु में कृषि गतिविधियों को आसान बनाने का प्रयास

113

त्रिची: तमिलनाडु सरकार ने पुलिस अधिकारियों को कृषि विभाग के अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित करने के निर्देश दिए है, ताकि लॉकडाउन के दौरान कृषि उपज और अन्य आवश्यक वस्तुओं के वाहनों को अनावश्यक रूप से बाधित करने वाले पुलिस कर्मियों की जानकारी मिल सके। लॉकडाउन में किसानों को राहत देने के लिए सरकार द्वारा उठाये गये इस कदम की सराहना की जा रही है।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, लॉकडाउन के दौरान किसानों की दिनचर्या को आसान बनाने के लिए, सेंट्रल जोन के डीआईजी वी. बालकृष्णन ने पहले पुलिस कर्मियों को निर्देश दिया था कि वे उन किसानों को प्रतिबंधित न करें जो अपनी उपज को बाजारों में पहुंचा रहे है। इस फैसले की समीक्षा करने पर, कृषि विभाग के अधिकारियों ने उन्हें बताया कि, जिले के विभिन्न हिस्सों से किसानों को अभी भी निरीक्षण के नाम पर कुछ पुलिस कर्मियों द्वारा बाधित किया जा रहा है। इसे रोकने के लिए, डीआईजी वी. बालकृष्णन ने पांच विशेष अधिकारियों को नामित किया है, जिन्होंने संबंधित जिलों के कृषि विभाग के संयुक्त निदेशकों के साथ चर्चा की है और किसानों की मदद करने के तरीकों पर विचार किया है।

डीआईजी बालकृष्णन ने कहा की, किसानों को और गन्ने की कटाई के लिए यात्रा करने वाले किसानों, चीनी मिलों में गन्ना परिवहन, खेत मजदूरों को उनके कार्यस्थल पर शाम 4 बजे तक रहने और उनकी वापसी पर सवाल नहीं उठाने की अनुमति दी गई है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here