इथेनॉल निर्यात से भारत-ब्राजील व्यापार को मिल सकता है बढ़ावा: ब्राजील के व्यापार मंत्री

275

नई दिल्ली : चीनी मंडी

ब्राजील के उप मंत्री मार्कोस ट्रॉयजो ने कहा की, भारत और ब्राजील ने राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो की यात्रा के दौरान 15 समझौतों पर हस्ताक्षर किए। दोनों पक्ष 2022 तक मौजूदा अमरीकी डालर 7 बिलियन से 15 बिलियन अमरीकी डॉलर तक व्यापार संबंधों को बढ़ाने पर सहमत हुए। निवेश सहयोग और सुविधा करार भारत और ब्राजील के बीच भविष्य के व्यापार के लिए कानूनी ढांचा प्रदान करेगी। एक निजी न्यूज़ चैनल से इंटरव्यू के दौरान ट्रायजो ने भारत से ब्राजील से इथेनॉल के निर्यात के लिए अपना बाजार खोलने का आग्रह किया, क्योंकि इससे ईंधन पर भारत की निर्भरता कम हो सकती है और साथ ही साथ दुनिया भर में चीनी की अधिशेष की समस्या भी कम हो सकती है।

ट्रॉयजो ने कहा की, भारत – ब्राजील का व्यापार वर्तमान में लगभग 7 बिलियन अमरीकी डालर का है। प्रधान मंत्री मोदी द्वारा एक बहुत ही दिलचस्प भाषण दिया गया जिसमें यह स्वीकार किया गया कि, 2022 के अंत तक ब्राज़ील और भारत दोनों को द्विपक्षीय व्यापार संबंधों को 15 बिलियन अमरीकी डालर तक बढ़ाना चाहिए और मुझे लगता है कि, यह यथार्थवादी उद्देश्य है।

उन्होंने कहा की, इथेनॉल एक ऐसा उत्पाद है जो ब्राजील के साथ साथ भारत के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि ब्राजील इथेनॉल शीर्ष उत्पादकों में से एक है, और भारत चीनी का एक शीर्ष उत्पादक है। अगर हम इथेनॉल के लिए कारें, बसों और ट्रकों के इंजन में बदलाव कर सके, तो फिर हम इथेनॉल को एक वैश्विक कमोडिटी में बदलने में सक्षम होंगे। फिर ब्राजील, भारत और अमेरिका जैसे इथेनॉल उत्पादन के बड़े खिलाड़ी न केवल कम कीमतों के मामले में लाभान्वित होंगे, बल्कि हमारी ऊर्जा दुनिया को जैव ईंधन की दिशा में चलाने में बहुत महत्वपूर्ण कदम उठाएंगे, जो कि सभी देशों की अर्थव्यवस्था और पर्यावरण के लिए अच्छा है।

ट्रॉयजो ने कहा की हम चाहते हैं कि भारत अपना बाजार खोले। ब्राज़ील में इथेनॉल गन्ना से उत्पादन किया जाता है इसलिए, अगर भारत इथेनॉल की खरीद बढ़ाता है, तो इससे हमारे पास दुनिया भर में मौजूद चीनी के कुल स्टॉक को थोड़ा कम करने में मदद मिलेगी। इसलिए, यह सभी के लिए फायदेमंद है, चीनी उत्पादकों के पास अपने उत्पादों के लिए बेहतर मूल्य होंगे और जो ईंधन के रूप में इथेनॉल का उपयोग करते हैं, उन्हें भी लाभ होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here