अफगानिस्तान में भेजे जा रहे भारतीय चीनी को खाने के लिए अयोग्य घोषित किया गया

329

कराची: पाकिस्तानी मीडिया में प्रकशित हुई खबरों के मुताबिक, सिंध पर्यावरण संरक्षण एजेंसी (SEPA) ने पाकिस्तान सीमा शुल्क को सलाह दी है कि, अफगानिस्तान को भारत द्वारा निर्यात की जा रही चीनी को आगे परिवहन की अनुमति न दी जाए, क्योंकि यह चीनी जांच में खाने के लिए अयोग्य पाई गई है। SEPA की तकनीकी टीम पाकिस्तानी सीमा शुल्क के कार्यालय का दौरा करने और भारतीय चीनी के जांच के बाद सलाह को जारी किया गया। भारत द्वारा अफगानिस्तान के लिए  265 कंटेनरों में चीनी भेजी जा रही थी, जिसकी कराची बंदरगाह पर जांच की गई।

SEPA के अधिकारियों ने  सिंध सरकार के पर्यावरण, जलवायु परिवर्तन और तटीय विकास विभाग के तकनीकी निदेशक आशिक लंगाह के नेतृत्व में एक तकनीकी टीम ने शनिवार को कराची में पाकिस्तान सीमा शुल्क के कार्यालय का दौरा किया और उनके द्वारा किये गये जांच में भारतीय चीनी खराब होने का मामला सामने आया, जिसे अफगानिस्तान में भेजा जाना था। SEPA टीम को सूचित किया गया था कि, PCSIR और HEJ रिसर्च इंस्टीट्यूट इन दोनों प्रयोगशाला रिपोर्टों के अनुसार भारतीय चीनी की एक्सपायरी डेट पहले ही खत्म हो चुकी है। दोनों प्रयोगशालाओं ने नमी, रंग सहित इसके चार प्रमुख मापदंडों के संदर्भ में नमूनों का परीक्षण किया था।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here