निर्यात सब्सिडी से चीनी मिलों के मार्जिन में होगा विस्तार: Crisil

259

नई दिल्ली: रेटिंग्स एजेंसी क्रिसिल (Crisil) ने कहा कि, 2020-21 चीनी सीजन के लिए केंद्र सरकार द्वारा दी गई निर्यात सब्सिडी से इस साल भी निर्यात पिछले साल के स्तर पर बनाए रखने में मदद मिलेगी। हाल ही में, आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति ने नये चीनी सीजन के लिए 6 मिलियन टन चीनी निर्यात के लिए 3,500 करोड़ रुपये की निर्यात सब्सिडी को मंजूरी दी है। एजेंसी ने कहा, इस वित्त वर्ष में स्थिर घरेलू मांग, इथेनॉल उत्पादन में गन्ने का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल और इथेनॉल की कीमतों में वृद्धि के कारण, चीनी मिलों के परिचालन मार्जिन में 100-200 अंकों (बीपीएस) की वृद्धि होगी। पिछलें सीजन में 27 मिलियन टन से 30-31 मिलियन टन तक चीनी उत्पादन बढ़ने के बावजूद, इन कारकों से सीजन 2021 में मिलों के लिए अधिशेष चीनी का स्तर भी कम रहेगा।

क्रिसिल रेटिंग्स के सीनियर डायरेक्टर अनुज सेठी ने कहा, हालांकि 2020 सीजन के लिए घोषित 10.4 रुपये प्रति किलो निर्यात सब्सिडी से मौजूदा सब्सिडी (5.8 रुपये प्रति किलोग्राम) कम होने के बावजूद सत्तारूढ़ अंतरराष्ट्रीय कीमतों के कारण मिलों को उत्पादन की लागत को कवर करने में मदद मिलेगी। क्रिसिल को उम्मीद है कि, 2021 में निर्यात की मात्रा 2020 सीजन के 5.7 मिलियन टन के मुकाबले 5-5.5 मिलियन टन रह सकती है। इसके अलावा, एजेंसी को उम्मीद है कि, उच्च औद्योगिक मांग के कारण सीजन 2021 में घरेलू खपत पिछले साल के 25.5-26 मिलियन टन के स्तर पर बरकरार रहने की संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here