उत्तर प्रदेश: गन्ना विभाग में भ्रष्टाचार का भांडाफोड

287

आजमगढ़: गोरखपुर एंटी करप्शन की टीम ने गन्ना विकास विभाग के एक लिपिक को घूस लेते रंगे हाथ पकड़ा। लिपिक गोरखपुर के रैदोपुर में सेवानिवृत्त एक कर्मी से पेंशन और ग्रेच्युटी आदि के भुगतान के लिए 50 हजार रुपए मांग रहा था। लिपिक के खिलाफ शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

गन्ना विकास विभाग में गन्ना विकास निरीक्षक रहे विजय प्रताप सिंह दिसंबर 2016 में सेवानिवृत्त हुए। इनके पेंशन, ग्रेच्युटी आदि का दो साल तक भुगतान नहीं हुआ। विभाग के सहायक लिपिक रामेश्वर चंद ने उनकी फाइल को रोक रखा था और उसके भुगतान कराने के लिए 50 हजार रुपये मांग रहा था। विभाग का चक्कर लगाकर थकने के बाद विजय प्रताप ने 20 सितंबर को इसकी शिकायत गोरखपुर एंटी करप्शन विभाग में की। इस टीम ने उक्त लिपिक को रुपये देने के लिए रैदोपुर तिराहा के एक होटल में बुलाया और घूस के पैसे लेते हुए उसे रंगे हाथ पकड़ लिया। एंटी करप्शन टीम में प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार सिंह, रामधारी मिश्र, चंद्रेश यादव, प्रवीण कुमार सान्याल, चंद्रभान मिश्र, शैलेंद्र राय, शैलेंद्र सिंह व पुनीत सिंह शामिल रहे।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here