ब्राजील: किसानों की गन्ना फसल में दिलचस्पी हो रही है कम

382

साओ पौलो: ब्राजील में इथेनॉल उद्योग पर गंभीर असर हुआ है जिसके चलते गन्ना किसान भी अब गन्ना खेती को लेकर असमंजस में है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोरोनो वायरस महामारी से उत्पन्न संकट के बीच, साओ पाउलो के ग्रामीण इलाकों में सोयाबीन, मकई और मूंगफली के कारण गन्ने का क्षेत्र कम हो रहा है। अंतरराष्ट्रीय तेल की कीमतों में गिरावट और COVID-19 महामारी संकट के बीच चीनी की मांग और कीमत में गिरावट के बाद किसानों की गन्ना फसल में दिलचस्पी कम हो रही है।

किसान फर्नांडो एसकारौपा ने 535 हेक्टेयर के अपने क्षेत्र में गन्ने का क्षेत्र कम करने का फैसला किया, और उन्होंने सोयाबीन का रोपण बढ़ाया है। साओ पाउलो राज्य के उत्तर में रहने वाले किसान उसेलेई कैवातो भी गन्ने की फसल को कम कर रहे हैं, क्योंकि इस क्षेत्र में कई चीनी मिलें वित्तीय चुनौतियों का सामना कर रही हैं। यदि इथेनॉल की मांग ठीक नहीं होती है और महामारी के बाद भी बनी रहती है, तो कई उत्पादकों को गन्ने की फसलों को कम करना पड़ सकता है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here