केन्या: सस्ती चीनी आयात के लिए बुसिया बॉर्डर पोस्ट की खामियों को जिम्मेदार ठहराया गया 

204

नैरोबी : सीमा पार से सस्ती चीनी की आयात को किसानों ने बुसिया वन स्टॉप बॉर्डर पोस्ट (ओएसबीपी) में मौजूदा खामियों को जिम्मेदार ठहराया गया है। उनका कहना है कृषि कैबिनेट सचिव पीटर मुन्या द्वारा युगांडा से चीनी के आयात पर प्रतिबंध के बावजूद, सीमा पार से सस्ती चीनी की बड़ी मात्रा में आयात हो रहा है। बुसिया में गोदामों के मालिक बिक्री के लिए चीनी पैक होने से पहले सीमा पर ट्रकों के माध्यम धडल्ले से चीनी की तस्करी करते हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, केन्या गन्ना उत्पादक संघ (Kesga) ने केन्या राजस्व प्राधिकरण (KRA) के अधिकारियों और सीमा पर सुरक्षा कर्मियों के बेईमान चीनी व्यापारियों के साथ मिलीभगत का आरोप लगाया है। केसागा के महासचिव रिचर्ड ओगेंडो ने बुसिया बॉर्डर पोस्ट के माध्यम से बढ़ती चीनी तस्करी को रोकने की आवश्यकता की मांग को फिर एक बार दोहराया किया हैं। ओगेंडो ने कहा, बुसिया सीमा पर बहुत सारी खामियां हैं, जिससे बेईमान व्यापारी देश में माल की तस्करी कर रहे हैं। उन्होंने कहा, कुछ सरकारी अधिकारी युगांडा से सफेद चीनी लाने के लिए व्यापारियों के साथ सांठगांठ कर रहे हैं। वेस्ट केन्या की ओलेपीटो चीनी मिल के जनरल मैनेजर गेराल्ड ओकोथ ने कहा कि, उनके मिल से चीनी की खरीद युगांडा से सस्ती चीनी की वजह से कम हो गई है। कृषि सचिव पीटर मुन्या ने पिछले महीने युगांडा के सफेद चीनी आयात पर प्रतिबंध लगा दिया था। यह कदम स्थानीय गन्ना किसानों द्वारा सराहा गया था। मुन्या ने कहा कि, चीनी के आयात पर प्रतिबंध का उद्देश्य स्थानीय चीनी मिलरों की रक्षा करना था।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here