चित्तूर जिले में किसान गन्ने की खेती से जा रहे है दूर

219

चित्तूर : चित्तूर और रेनिगुनता में सहकारी चीनी मिलों के बंद होने और निजी मिलों के लंबित बकाया कारण किसान गन्ने की खेती से भी दूर जा रहे हैं। जिससे यहां गन्ने के उत्पादन पर असर पड़ रहा है। जिले में बारिश की कमी भी मुश्किलों को बढ़ा रही है।

जिले में किसान मूंगफली की ओर रुख़ मोड़ रहे है लेकिन इसपर भी असर होता हुआ दिख रहा है।अच्छी बारिश की उम्मीद के साथ, मूंगफली की बुवाई 15 जून से शुरू होने की उम्मीद थी। जिले के पश्चिमी मंडलों में किसानों के एक वर्ग ने भी इस महीने की शुरुआत में बुवाई का काम शुरू किया था। चित्तूर जिले में इस महीने 85 मिमी बारिश की कमी दर्ज की गई है। पूर्वानुमान के अनुसार, जिले में अगले एक सप्ताह से दस दिनों तक बारिश होने की कोई संभावना नहीं है। गन्ने की फसल को बढ़ावा देने के लिए लंबित बकाया भुगतान और मिलों का पुनरुत्थान करने की आवश्यकता है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here