लॉकडाउन इफेक्ट: आंध्रप्रदेश के किसान, उद्योगपति, होटल व्यवसायियों के सामने मजदूरों की कमी की समस्या

202

हैदराबाद : लॉकडाउन के चलते मजदूरों के पलायन से आंध्रप्रदेश में किसानों, होटल व्यवसायियों और विनिर्माण इकाइयों, कारखानों, कृषि कंपनियों और अन्य संगठनों मजदूरों की कमी का सामना करना पड़ रहा है। कोरोना वायरस महामारी के आतंक की स्थिति के कारण मजदूरों की कमी के चलते आवश्यक वस्तुओं के उत्पादन में कमी आने की संभावना है। कृषि क्षेत्र, गोदामों, ईंट भट्टों, खानपान इकाइयों, जलीय कृषि कंपनियों, फीड निर्माण कंपनियों और अन्य क्षेत्रों में काम करने के लिए हजारों अंतर-जिला और अंतर-राज्य मजदूर आंध्र प्रदेश में आते हैं, लेकिन कोरोना वायरस के कारण मजदूर वापस कम पर नही लौट रहें है। सैकड़ों बिचौलिए मिर्च, धान, गन्ना, मक्का, हल्दी और अन्य किसानों को मजदूर देकर अपनी आजीविका कमाते थे।

छोटे और मध्यम होटल व्यवसायियों ने कहा कि, शेफ, हेल्पर्स, सर्वर पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, ओडिशा और अन्य राज्यों से आते हैं। श्रीकाकुलम और विजयनगरम जिलों के कई परिवार होटल और रेस्तरां में काम करके अपनी आजीविका चला रहे हैं, लेकिन, कोरोनो वायरस के कारण, सभी मजदूर अपने अपने गांव लौट गए है और अब इसका प्रभाव दिखाई दे रहा है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here