गन्ना कटाई में देरी से किसान चिंतित..

240

पुणे : चीनी मंडी

महाराष्ट्र में एक तरफ जहाँ गन्ने की कमी के कारण कई मिलों ने एक-दो हप्तों में ही पेराई खत्म की है, तो दूसरी तरफ कई मिलों द्वारा पेराई के लिए गन्ना किसानों को ‘वेटिंग’ पर रखा गया है। गन्ना कटाई में हो रही देरी के कारण किसान काफ़ी परेशान है। पुणे जिले के पवन मावल क्षेत्र में अभी तक कई किसानों का गन्ना खेतों में खड़ा है, और अब किसानों के पास गन्ने को सिंचने के लिए पानी भी नही है, जिससे फसल सुख रही है। अगर कटाई में और देरी होती है, तो गन्ने का वजन भी तेजी से घट सकता है, जिससे किसानों को बड़ा आर्थिक नुकसान हो सकता है। गन्ना किसान जल्द से जल्द गन्ना कटाई करने के लिए आग्रही है।

पवन मावल क्षेत्र में चावल के साथ साथ गन्ने की फसल बड़ी मात्रा में उगाई जाती है। किसानों का आरोप है की वैसे तो हर साल इस इलाकें में नवंबर के महिने में ही कटाई शुरू होती है, लेकिन इस साल जनवरी तक मिलों ने यहां के गन्ने की कटाई नही की है। कटाई में देरी से गन्ने की उम्र बढने के साथ साथ उसका वजन भी तेजी से गिर रहा है। यहां के किसानों ने आरोप लगाया की, मिल के अधिकारी किसानों को केवल कटाई का आश्वासन दे रहे है, लेकिन इस संबध में कोई कार्रवाई नही कर रहे है। इस बारे में संत तुकाराम चीनी मिल को आवेदन भी दिया गया है।

वही दूसरी और चीनी मिलों का कहना है की इस बार बारिश और राज्य में राजनैतिक गतिविधयों के वजह से पेराई सीजन देरी से शुरू हुई है और उनके मुताबिक मौसम के वजह से गन्ने में तुरे आने से गन्ने का वजन घट रहा है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here