जम्‍मू कश्‍मीर में हालात तनावपूर्ण; अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों को लौटने की सलाह

372

कश्मीर घाटी में बड़े पैमाने पर सेना की तैनाती की गयी है। जिसके बाद से ही इसके पीछे के कारण को लेकर काफी सारे अटकले लगाए जा रहे है।

तैनाती को लेकर जम्मू-कश्मीर पुलिस, सीआरपीएफ, और सेना ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एक बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर घाटी में अशांति फैलाने की लगातार कोशिशें कर रहा है। इसके लिए सीमा पार से आतंकवादियों की घुसपैठ कराने की कोशिशें हो रही हैं। ऐसे इनपुट्स मिले हैं कि आतंकी अमरनाथ यात्रा पर हमले की साज़िश रच रहे हैं।

उन्होंने बताया कि अमरनाथ यात्रा पर बड़े हमले की साजिश को नाकाम कर दिया गया है और केंद्र सरकार ने अमरनाथ यात्रियों और सैलानियों को कश्मीर घाटी से वापस बुला लिया है। फिलहाल अमरनाथ यात्रा को रोक दी गई है। ये यात्रा 15 अगस्त तक चलनी थी।

छानबीन के तहत यात्रा के रास्ते से पाकिस्तान में बनायी गई बारूदी सुरंग बरामद हुई हैं। सुरक्षा बलों ने अमरनाथ यात्रा के रूट पर आतंकियों के एक ठिकाने से सर्च ऑपरेशन के दौरान एक अमेरिकन स्नाइपर राइफल एम-24 भी बरामद की है। मौजूदा हालात के मद्देनजर सरकार ने आर्मी और एयरफोर्स को हाई ऑपरेशनल अलर्ट पर रखा है। खबरों के मुताबिक 28 हजार से ज्यादा जवान की तैनाती की गयी है।

खबरों के मुताबिक कश्मीर में खौफ का माहौल बन चुका है। हालत को देखते हुए राजनीति पार्टी PDP और NC ने इमरजेंसी मीटिंग बुलाई।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here