पाकिस्तान में थोक चीनी व्यापारियों पर लगाया गया जुर्माना

876

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

सियालकोट: गर्मी और रमज़ान के कारण पाकिस्तान में चीनी की मांग अधिक है क्योंकि इसका उपयोग पारंपरिक पेय, जूस और अन्य चीजों की तैयारी में बड़े पैमाने पर किया जाता है। चीनी बिक्री के कामकाज का निरीक्षण करने के लिए, जिला प्रशासन की विशेष जाँच टीमों ने मंगलवार को सियालकोट में घला मंडी की छानबीन की। अपने निरीक्षण के दौरान, टीमों ने थोक चीनी व्यापारियों को 55 रुपये प्रति किलोग्राम की निर्धारित आधिकारिक कीमत के मुकाबले अधिक दरों पर चीनी बेचते हुए पाया।

इस पर कार्यवाही करते हुए, थोक चीनी व्यापारियों पर 250,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया।

सहायक आयुक्त सियालकोट, सईद अहमद, ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “सरकार ज्यादा दामों पर चीनी बेचने वालो के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी।”

इससे पहले, नागरिकों ने खुले बाजार की तुलना में रमज़ान के बाज़ारों में चीनी की कीमतों में अंतर पर आश्चर्य व्यक्त किया था और सरकार से अनुरोध किया कि वे सस्ती दरों पर आवश्यक गुणवत्ता की चीजों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कुछ गंभीर प्रयास करें।

आमतौर पर रमजान के महीने के दौरान, चीनी की कीमत बढ़ जाती है, और सरकार कीमत को नियंत्रण में रखने के लिए विभिन्न उपाय अपनाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here