बभनान चीनी मिल के खिलाफ दर्ज हो सकती है एफआईआर

1574

बस्ती: बभनान चीनी मिल में कीटनाशक दवाओं के नाम पर एक घोटाले का मामला प्रकाश में आया है। इस मिल ने किसानों से कीटनाशक दवाओं के लिए पैसे लिये थे। मामले का पता चलते ही बस्ती के जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने अपने गन्ना अधिकारी को इस मिल के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने का निर्देश दिया है अगर वे कीटनाशक दवाओं के नाम पर ली गयी धन वसूली तीन दिन में वापस नहीं करते है तो।

खबरों के मुताबिक, कुछ किसानों का पैसा उनके द्वारा वापस भी किया गया है परन्तु विक्रमजोत क्षेत्र के किसानों का पैसा अभी भी बाकी है।

जिलाधिकारी ने चीनी मिल प्रबन्धन को किसानों का पैसा वापस करने का निर्देश दिया। किसानों ने यह भी बताया कि जिले में गन्ना किसानों का लगभग डेढ अरब रूपया बकाया है। जिलाधिकारी ने सीडीओं को निर्देश दिया है कि सभी चीनी मिलों का वित्तीय एंव भौतिक आडिट कराने के लिए टीम बनाए।

बात की जाए गन्ना बकाये की तो, नया चीनी सीजन शुरू होने के कगार पर है लेकिन अभी भी उत्तर प्रदेश के कई चीनी मिलों ने गन्ना भुगतान नहीं किया है।

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य के चीनी मिल मालिकों को गन्ना किसानों के सारा बकाया 31 अक्टूबर, 2019 तक भुगतान करने को कहा है। राज्य के कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि इसका पालन न करने वाले चीनी मिलों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here