1993 के बाद टिड्डीयों का महाराष्ट्र में सबसे बड़ा हमला

1476

मुंबई : चीनी मंडी

भारत पहले से ही कोरोना के संकट से जूझ रहा है और अब किसानों की चिंता बढ़ाने के लिए टिड्डीयों के दल ने भारत के कई राज्यों में अटैक किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बाद अब महाराष्ट्र में 1993 के बाद टिड्डीयों का सबसे बडा हमला हुआ है और अमरावती, वर्धा, नागपूर यह तीन जिले टिड्डीयों के चपेट में आए है। वर्धा में फलों के बागों और सब्जियों के खेतों के प्रभावित होने की संभावना है।

मुख्य प्रभावित क्षेत्रों में अमरावती में मोरशी और वारुद तालुका में 22 गाँव शामिल हैं। ऊपरी वर्धा जिले में आष्टी तालुका और नागपुर में कटोल, कलमेश्वर और नरखेड तालुका प्रभावित हुए है। सोमवार सुबह काटोल से आक्रमण शुरू हुआ।

हिंदुस्तान टाइम्स में प्रकाशित खबर के मुताबिक, केंद्रीय कृषि मंत्रालय के तहत टिड्डी चेतावनी संगठन (LWO) के अनुसार, आखिरी बार महाराष्ट्र में ऐसा आक्रमण 1993 में धुले जिले में हुआ था।

देश में राजस्थान, गुजरात, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और अब महाराष्ट्र में टिड्डीयों का प्रकोप जारी है। ये तेजी से प्रजनन करने वाले क्रॉप मंचिंग कीट अपने वजन के बराबर दैनिक मात्रा में खा सकते हैं, और एक दिन में कई किल्लोमीटर तक उड़ सकते हैं। इससे सबसे ज्यादा खतरा फसलों को है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here