बाढ़ से चीनी के थोक विक्रेताओं को हुआ बड़ा नुकसान

1325

पुणे : चीनी मंडी

भारी बारिश के कारण कृष्णा, कोयना और पंचगंगा नदी में बाढ़ आई थी, जिससे पुणे, कोल्हापुर, सांगली और सातारा जिले जो गन्ना बेल्ट के रूप में जाने जाते है, बुरी तरह से प्रभावित हुए है।

इस जगह से चीनी और गुड़ पूरे राज्य में पहुँचाया जाता है। कृष्णा, कोयना और पंचगंगा नदी में आये बाढ़ ने चीनी और गुड के स्टॉक का पूरा गणित बिगाड़ दिया है। कोल्हापुर, सांगली और कराड में चीनी और गुड़ के थोक विक्रेताओं को बाढ़ से बड़ा नुकसान हुआ है। बाढ़ का पानी गोदामों में घुसने से चीनी और गुड़ का पानी बन गया। क्षति इतनी बड़ी है कि इसने चीनी और गुड के कमी की स्थिति पैदा कर दी है। पिछले कुछ दिनों में ३३-३४ रूपये प्रति किलोग्राम बिक्री हो रही चीनी के दर अब ३६ रूपये हो गई है। गुड़ की कीमत भी ३८ रूपये से बढ़कर ४३ रुपये प्रति किलोग्राम हो गई है। व्यापारियों का अनुमान है कि, ये दरें और बढ़ेंगी। पिछले 6 दिनों से राज्य में चीनी की आपूर्ति भी धीमी गति से चल रही है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here