कोविड 19 से निपटने के लिए आयोजित हुई जी -20 देशों के कृषि मंत्रियों की बैठक में खाद्य सुरक्षा और पोषण पर हुई चर्चा

203

नई दिल्ली, 23 अप्रैल: कोरोना की वैश्विक महामारी के बीत केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय देश के किसानों के लिए जितना गंभीरता दिखा रहा है उतना ही वैश्विक मंच पर भी अपना पक्ष रख रहा है। कोविड 19 से निपटने के लिए जी – 20 देशों की विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के मसले पर नई दिल्ली स्थित कृषि भवन में मीडिया से बात करते हुए केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि कोरोना की महामारी के दौरान हमारा पूरा ध्यान सदस्य देशों के बीच खाद्य सुरक्षा और पोषण पर है। इसके लिए सभी सदस्य देशों ने आपसी सहयोग के लिए प्रतिबद्धता दोहराई है।

कृषि मंत्री ने कहा के सउदी अरब के कृषि मंत्री अबल्दुल रहमान अलफाजली ने कोविड 19 के बाद के हालातों के मद्देनज़र सदस्य देशों के बीच कोरोना के मुद्दे पर सहयोग के साथ साथ भविष्य में कृषि उत्पादों के व्यापार और कोरोबार पर पडने वाले प्रभावों पर भी जोर दिया। कृषि मंत्री ने कहा कि भारत सरकार द्वारा लॉकडाउन के दौरान किसान को कृषि कार्य, कृषि उपज और खाद्य आपूर्ति के लिए दी जा रही विशेष सहूलियतों पर कई अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधियों ने खुले मन से भारत सरकार के इस कदम की सराहना की। कृषि मंत्री ने कहा कि कोरोना के कारण कृषि अर्थव्यवस्था पर पड रहे असर पर सरकार पूरी नजर बनाए हुए है। सरकार किसानों के हित के लिए काम तर रही है।

गौरतलब है कि इस अंतरराष्ट्रीय बैठक के माध्यम से कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने जी -20 देशों के सदस्यो को आश्वासन दिया कि भारत समस्त सदस्य देशों के सहयोग के लिए इस संकट की घड़ी में न केवल सहयोग को तत्पर रहेगा बल्कि समस्त मानव जाति को खाद्यान्न और अन्य तरह की आपूर्ति सुनिश्चित कराने में अग्रणी भूमिका भी निभाएगा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here