अगले वर्ष से, अधिकांश मिलें न केवल चीनी का बल्कि इथेनॉल उत्पादन भी करेंगी : योगी आदित्यनाथ

547
लखनऊ : चीनी मंडी 
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को स्पष्ट किया की, उत्तर प्रदेश की अधिकांश चीनी मिलें अगले साल से चीनी के साथ साथ  इथेनॉल का उत्पादन भी करेगी। यूपी के मुख्यमंत्री ने तर्क दिया कि “ग्रीन ईंधन” का उत्पादन करने का कदम आर्थिक फायदेमंद साबित होगा, क्योंकि यह, तेल आयात के लिए विदेशों में जाने वाले बहुत सारे पैसे बचाएगा।
गुरुवार को, आदित्यनाथ ने लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में 851 गन्ना पर्यवेक्षकों को नियुक्ति पत्र सौंपे। इथेनॉल आयातित कच्चे तेल पेट्रोल का एक अच्छा विकल्प है और सरकार ने इथेनॉल को गन्ने के रस या बी-गुड़ से अनुमति देने का एक साहसिक निर्णय लिया है। चीनी उद्योग उत्पादन की लागत के आधार पर 52 रूपये प्रति लीटर की इथेनॉल कीमत मांग रहा है, जहां गन्ना का मूल्य एक महत्वपूर्ण कारक बना हुआ है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने चार वर्षों में इथेनॉल उत्पादन को तीन गुना करने का लक्ष्य भी निर्धारित किया है, ताकि किसानों की आय में वृद्धि करके तेल आयात बिल में 12,000 करोड़ रुपये बचाए जा सकें।
SOURCEChiniMandi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here