कमजोर मानसून से निराश होकर महाराष्ट्र में किसान ने की आत्महत्या

172

लातूर: कमजोर मानसून ने किसानों के जीवन को प्रभावित किया है। एक दुखद घटना में, महाराष्ट्र के लातूर जिले के एक 45 वर्षीय किसान ने कथित तौर पर कर्जे और सूखे के कारण अपने खेत में जहर खाकर आत्महत्या कर ली।

मृत किसान की पहचान शिवाजी पवार के रूप में की गई है। उसने सहकारी बैंक से 2 लाख रुपये का ऋण लिया था और पिछले कुछ वर्षों से अपने खेत से कम उपज के कारण तनाव में था, जिसके कारण वह ऋण चुकाने में असमर्थ था।

पुलिस अधिकारी के अनुसार, वह निराश था क्योंकि जुलाई में भी क्षेत्र में बारिश जारी नहीं थी। 22 जुलाई को, पवार ने खेत में जाकर जहर खा लिया। उन्हें उनके परिवार के कुछ सदस्यों ने बेहोशी की हालत में देखा, जिसके बाद उन्हें पास के अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वहां पहुंचने पर उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है और आकस्मिक मौत का मामला दर्ज किया गया है।

भारत की लगभग 55 प्रतिशत कृषि योग्य भूमि बारिश पर आधारित है, और बारिश की कमी खेत के उत्पादन और उन लोगों की आजीविका को प्रभावित करता है, जो इस्पे निर्भर है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here