ईंधन कीमतों में वृद्धि: महाराष्ट्र में 11,000 से अधिक ट्रांसपोर्टर्स कारोबार बंद करने के कगार पर

108

मुंबई: ईंधन की कीमतों में दिनोंदिन बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। राज्य के ट्रांसपोर्टर्स संघों के सदस्यों ने कहा कि, डीजल की बढ़ती कीमतों के कारण महाराष्ट्र में 11,000 से अधिक ट्रांसपोर्टर्स कारोबार बंद करने के कगार पर हैं। ऑल-इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के उपाध्यक्ष विजय कालरा ने कहा की, नौ महीनों में डीजल कीमतों में लगभग 25% की बढ़ोतरी हुई है। डीजल की बढ़ती कीमतें छोटे ट्रांसपोर्टर्स के लिए घाटे का सौदा साबित हो रही है। उन्होंने कहा कि, कुछ दिनों में ट्रांसपोर्टरों की एक आपातकालीन बैठक होने की संभावना है, और इसमें ‘ चक्का जाम’ आंदोलन का ऐलान हो सकता है, जिससे राज्यों में माल परिवहन प्रभावित हो सकता है।

अखिल भारतीय ट्रांसपोर्टर्स वेलफेयर एसोसिएशन (एआईटीडब्ल्यूए) के अध्यक्ष महेंद्र आर्य ने कहा, राज्य में 11,000 से अधिक ऑपरेटरों को करोड़ों का नुकसान हुआ है और कई लोग कर्ज में डूबे है। ये परिवहन क्षेत्र के लिए बुरा समय है, जहां करों पर रोलबैक, डीजल पर वैट, टोल की वापसी और ई-वे बिल प्रणाली के संशोधन की मांग को भी अनसुना कर दिया है।

कालरा ने कहा कि, सरकार द्वारा शुरू की गई किसान रेल ने पूरे महाराष्ट्र में ट्रांसपोर्टर्स के कारोबार को प्रभावित किया है। क्योंकि सरकार रेल द्वारा वस्तुओं के परिवहन के लिए रियायती दर देती है। हम रेलवे द्वारा दी जाने वाली कम दरों पर काम नहीं कर सकते हैं, और जब हम पंपों पर डीजल की कीमतें देखते हैं तो हमे धक्का लगता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here