गोवा: सरकार ने गन्ना किसानों को जारी किया भुगतान

173

पोंडा: गन्ना पेराई सत्र समाप्त होने के नौ महीने बाद, राज्य सरकार ने गन्ना किसानों को अंत में फसल की कटाई लागत जारी कर दी। 1.6 करोड़ रुपये में से, 65 लाख रुपये पहले ही किसानों के बैंक खातों में जमा हो चुके हैं और शेष राशी सोमवार को जमा की जाएगी।

मार्च में समाप्त हुए पिछले पेराई सत्र के दौरान संजीवनी सहकारी चीनी मिल को लगभग 825 किसानों ने लगभग 26,440 टन गन्ने की आपूर्ति की थी। राज्य में गन्ने की खेती को बढ़ावा देने के लिए, सरकार समय-समय पर संशोधित गन्ने की लागत के अलावा किसानों को समर्थन मूल्य और फसल की लागत का भुगतान करती रही है।

टाइम्स ऑफ इंडिया डॉट कॉम में प्रकाशित खबर के मुताबिक, गन्ना किसान सुविधा समिति के अध्यक्ष नरेंद्र सवाईकर ने कहा, पिछले साल चीनी मिल का गन्ना मूल्य 1,200 रुपये प्रति टन था। कृषि विभाग ने 1,800 रुपये के समर्थन मूल्य का भुगतान किया, जिससे किसानों को प्रति टन 3,000 रुपये की कुल आपूर्ति हुई। लेकिन कटाई की लागत का भुगतान, 600 रुपये प्रति टन, लंबित था और अब जारी किया गया है।

सवाईकर ने कहा कि, 1.58 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं और सीधे किसानों के बैंक खातों में जमा किए जाएंगे। मिल प्रशासक संजीव गडकर ने कहा कि, शुक्रवार को किसानों के बैंक खातों में लगभग 65 लाख रुपये जमा किए गए हैं। शेष राशि सोमवार को किसानों के खातों में जमा की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here