गोवा में गन्ने की खेती करने के लिए किया जाएगा किसानों को प्रोत्साहित

367

पणजी: राज्य की एकमात्र संजीवनी सहकारी चीनी मिल बंद पड़ी है। जिसके कारण गन्ना किसानों को काफी परेशानीयों का सामना करना पड़ रहा है। जिसके चलते गोवा सरकार ने हाल ही में गन्ना किसानों को होने वाली कठिनाइयों के समाधान के लिए गन्ना किसान सुविधा समिति का गठन किया है। समिति के प्रमुख दक्षिण गोवा के पूर्व सांसद सदस्य नरेंद्र सवाईकर ने कहा की, यह समिति गन्ने के खेती के विकास और वृद्धि की दिशा में काम करेगी। उन्होंने कहा कि, लगभग 850 से अधिक किसान परिवार गन्ने की खेती से जुड़े है, और लगभग 30,000-35,000 मीट्रिक टन गन्ने का उत्पादन होता है। समिति गन्ने की खेती करने के लिए और अधिक लोगों को प्रोत्साहित करने की दिशा में काम करेगी ताकि चीनी क्षेत्र के गौरवशाली वर्षों को वापस लाया जा सके।

सरकार द्वारा गुरुवार को 23 सदस्यीय समिति के गठन की घोषणा की गई। समिति के अन्य सदस्यों में निर्दलीय विधायक प्रसाद गाँवकर, पूर्व विधायक सुभाष फलदेसाई, पूर्व मंत्री रमेश तावड़ेकर और गन्ना किसान संघ के अध्यक्ष राजेंद्र देसाई शामिल हैं। संजीवनी सहकारी चीनी मिल के प्रशासक इस समिति के सदस्य सचिव हैं। चीनी मिल को सितम्बर माह में सहकारिता विभाग से कृषि विभाग के अधीन लाया गया है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here