चीनी उद्योग के लिए ‘अच्छा’ बजट…

764

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

नई दिल्ली : चीनी मंडी

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी प्रति लीटर एक रुपये की वृद्धि करने की घोषणा की है। साथ ही साथ सीतारमण ने पेट्रोल और डीजल पर एक रुपया रोड एंड इंफ्रास्ट्रक्चर सेस लगाने का एलान किया। जिसका मतलब यह है की पेट्रोल और डीजल दोनों दो-दो रुपया महंगा होगा। इससे चीनी मिल मालिकों के साथ साथ नकदी तंगी से परेशान चीनी उद्योग को कुछ हदतक राहत मिल सकती है, जो इथेनॉल उत्पादन की मांग बढने की उम्मीद करते हैं। मिल मालिकों का कहना है कि, बजट में किये गये प्रावधानों से चीनी उद्योग के लिए नकदी प्रवाह में वृद्धि हो सकती है, जिससे गन्ना बकाया भुगतान आसानी से हो सकता है।

वर्तमान में, यूपी सालाना लगभग 60 करोड़ लीटर इथेनॉल का उत्पादन करता है, जो देश में सबसे अधिक है। यह तेल कंपनियों की मांग के आधार पर ऊपर जाने की संभावना है, जो इथेनॉल के साथ पेट्रोल को मिलाना चाहते हैं। यूपी शुगर मिल्स एसोसिएशन के एक पदाधिकारी ने कहा, वर्तमान में 5% से 10% इथेनॉल पेट्रोल के साथ मिलाया जाता है, इसे बढ़ाकर 15% करने की लगातार मांग की जा रही है। चीनी मिलों द्वारा इथेनॉल उत्पादन में वृद्धि – जाहिर तौर पर तेल कंपनियों द्वारा मांग के आधार पर होगी, जिससे मिलरों के लिए आय के वैकल्पिक स्रोतों को बढ़ावा मिलेगा, जिससे नकदी प्रवाह बढ़ेगा जो किसानों को गन्ने के बकाये के भुगतान में बदल सकता है। यूपी की चीनी मिलों में इथेनॉल उत्पादन इकाइयों का उन्नयन है, जो प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लगभग 50,000 किसानों का समर्थन करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here