केंद्र सरकार के राहत पैकेज से चीनी उद्योग को ‘अच्छे दिन’ : शरद पवार

मुंबई : चीनी मंडी

केंद्र सरकार ने चीनी निर्यात के लिए कई अच्छे निर्णय लिए हैं और निर्यात के लिए पहली बार ऐसे निर्णय किए गए है । बांग्लादेश, चीन से चीनी की अच्छी मांग है और सरकार उन देशों में चीनी निर्यात के लिए काफी अच्छे कदम उठा रही है, ऐसे कहते हुए राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने शनिवार को केंद्र की खुलकर प्रशंसा की । पवार ने इथेनॉल उत्पादन के लिए उठाये गये कदम के चलते केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की भी प्रशंसा की।

शनिवार को यशवंतराव चव्हाण फाउंडेशन में राज्य सहकारी चीनी मिल संघ द्वारा चीनी उद्योग की कठिनाइयों पर विचार विमर्श करने के लिए आयोजित बैठक में पवार ने अपनी बात रखी । उन्होंने कहा की, चीनी उद्योग की समस्याओं को देखते हुए सरकार ने चीनी निर्यात के लिए आकर्षक पैकेज दिया है और चीनी बाजारों की वर्तमान स्थिति चीनी निर्यात के लिए काफी अनुकूल है। पवार ने चीनी मिलों से अपील की कि वे जादा से जादा निर्यात करके इस स्थिति का अधिकतम लाभ प्राप्त करें।

चीनी निर्यात के लिए लगभग 5,500 करोड़ रुपये का पैकेज मिलेगा। केंद्र ने 5 लाख मेट्रिक टन चीनी निर्यात करने का फैसला किया है। इनमें से, महाराष्ट्र में 185 चीनी मिलों को 155.8 लाख टन कोटा आवंटित किया गया है। निर्यात के लिए सरकार को 8,310 रुपये प्रति टन और मिलों से बंदरगाह तक चीनी परिवहन के लिए प्रति टन 2 हजार 500 रुपये प्रति टन का अनुदान मिलेगा।

गन्ना उत्पादन में गिरावट की संभावना…

राज्य में गन्ने की खेती के क्षेत्र में वृद्धि के कारण अतिरिक्त चीनी उत्पादन की संभावना है, लेकिन आवर्ती बाढ़, कुछ जिलों में सुखा और कई जगह फसल पर रोगों के प्रादुर्भाव के कारण उत्पादन में गिरावट का अनुमान जताया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here