“गन्ना किसानों के हितों को लेकर सरकार हमेशा रही है गंभीर”

702

मेरठ,29 मार्च: मेरठ में आयोजित विजय संकल्प रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के वोटरों की प्रत्येक नब्ज को टटोला। चौधरी चरण सिंह को याद करके किसानों और जाट वोटरों को साधा तो मेरठ समेत वेस्ट यूपी के विकास को नए पंख लगाने वाले गन्ना किसानों से जुड़े कार्यों को भी गिनाया।

मोदी ने कहा कि वर्तमान सरकार फैसले लेने वाली सरकार है तो दूसरी ओर फैसले टालने वाला इतिहास है। एक ओर नया भारत है तो दूसरी ओर वंशवाद की बहार है। एक ओर दमदार चैकीदार है तो उस ओर दागदारों की भरमार है। नया भारत वैभवशाली होगा। उन्होंने कहा की गन्ना किसानों के हितों को लेकर सरकार हमेशा गंभीर रही है।

प्रधानमंत्री ने यूपी में तत्कालीन अखिलेश सरकार को किसान विरोधी बताते हुए कहा कि पूर्ववर्ती सरकार ने योगी सरकार के लिए छोड़ दीए 35 हजार करोड़ रुपये और चीनी मिलों व गन्ना किसानों की हालत के लिए सपा व बसपा सरकार को जिम्मेदार ठराया है। मोदी ने कहा कि बसपा के शासन में चीनी मिलों को अपने करीबियों को बेच दिया गया था। सरकार ने बकाया 35000 करोड़ रुपये योगी सरकार के लिए छोड़ दिए, जिन्हें योगी जी ने किसानों को भुगतान कराया। इस साल भी समय पर किसानों का भुगतान होगा। मोदी ने कहा कि 70 साल में ये लोग  बैंक भी नहीं खुलवा सकें तो आपके  खाते में पैसा पहुंचने कैसे देंगे? मोदी सरकार ने खाते खुलवाने का यह काम कर दिखाया और गन्ना किसानों को फ़सल बीमा की राशि सीधे उनके खाते में डाली जा रही है। साथ ही बिना भ्रष्टाचार के 2-2 हज़ार रुपये की किस्त सीधे किसानों के खाते में जा रही है।

डाउनलोड करे चीनीमंडी न्यूज ऐप:  http://bit.ly/ChiniMandiApp  

SOURCEChiniMandi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here