महाराष्ट्र बाढ़: राज्य सरकार ने तेल उद्योग को कोल्हापुर में ईंधन एयरलिफ्ट करने को कहा…

267

मुंबई / कोल्हापुर : चीनी मंडी

राज्य सरकार ने कोल्हापुर जिले में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में बचाव कार्य में लगे वाहनों के लिए ईंधन पहुँचाने के लिए तेल उद्योग को एयरलिफ्ट करने को कहा।राज्य सरकार के आपदा प्रबंधन इकाई के निदेशक अभय यावलकर द्वारा राज्य स्तरीय को-ऑर्डिनेटर (तेल उद्योग) के महाप्रबंधक को पत्र लिखा गया है। इस पत्र में लिखा गया है की, बाढ़ के कारण, कोल्हापुर के साथ सड़क संपर्क कट गया है। वाहनों के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला ईंधन समाप्त होने की कगार पर है। ऐसी स्थिति में बचाव अभियान में गतिरोध आ सकता है। जिला प्रशासन के नावों के साथ-साथ वाहनों के लिए भी पेट्रोल और डीजल की आवश्यकता है।

यावलकर ने कहा कि, कोल्हापुर में शहर की सीमा के बाहर विमान ईंधन ले जाने वाला टैंकर फंसा हुआ था। उन्होंने कहा कि कोल्हापुर में बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत कार्य के लिए ईंधन की जरूरत है। गृह मंत्रालय के एक अन्य पत्र में, यावलकर ने नौकाओं और अन्य बचाव उपकरणों के साथ कम से कम 15 भारतीय नौसेना टीमों की तत्काल तैनाती के लिए कहा। भारी बारिश और बांध के निर्वहन के कारण कोल्हापुर जिला अभूतपूर्व बाढ़ का सामना कर रहा है। बहुत से लोग गाँवों में फंसे हुए हैं, जो कि डूबे हुए हैं, और उन्हें तत्काल बचाव की आवश्यकता है।अधिकारियों ने कहा कि, विशाखापत्तनम से नौसेना के 15 दल शनिवार शाम कोल्हापुर पहुंचे। 104 बचाव दल है जिनमें से 16 तटरक्षक दल, 23 एनडीआरएफ दल, 41 नौसेना दल सहित अन्य दल बचाव कार्यों में शामिल हैं।

आपको बता दे एक सप्ताह से ज्यादा हो चूका है कोल्हापुर बाढ़ में डूबा था और अभी भी कई जगह पर पानी कम नहीं हुआ है। बाढ़ के वजह से पेट्रोल और डीजल की भी कमी है और इसकी तलाश में लोग दर बदर भटक रहे है। प्रशासन द्वारा इस स्थिति से निपटने के लिए काम किया जा रहा है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here