इथेनॉल को लेकर सरकार है गंभीर: रामविलास पासवान

248

नई दिल्ली, 14 मार्च: भारत सरकार देश में ईंधन आयात निर्भरता को कम करने के साथ प्रदूषण की समस्या के निदान पर जो दे रही है। इसके लिए पैट्रोल में इथेनॉन मिलने के लिए सरकार ने नई नीति बनायी है। सरकार का मानना है कि इस पहल से एक ओर जहां देश में पेट्रोल ईंधन की आवश्यकता को कम किया जा सकेगा वहीं इथेनॉल मिलाने से इसकी बाजार में खपत भी बढेगी। राजधानी दिल्ली स्थित संसद भवन में मीडिया से बात करते हुए केन्द्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि देश में पर्यावरण प्रदूषण को कम करने के लिए सरकार गंभीरता से काम कर रही है। आने वाले समय में देश में वाहनों के ईंधन के रूप में सीएनजी, एलएनजी, हाइड्रोजन, बायोडीजल, मेथैनॉल और इथेनॉल की निर्भरता बढ़ेगी। इन सभी में वर्तमान हालातों में इथेनॉल को लेकर सरकार ज्यादा गंभीर हो रही है। इस क्रम में कैबीनेट ने ईंधन में इथेनॉल मिलाने की मात्रा 10 फीसदी निर्धारित की है। इससे पहले यह पांच फीसदी थी जिसे सरकार ने बढ़ाने का निर्णय लिया है। पासवान ने कहा कि उन्होने ऑन रिकॉड सदन में भी ये बात कही है। देश में ईथेनॉल आधारित ईंधन की अनिवार्यता से चीनी मिलों को वित्तीय रूप से मजबूत करने में मदद मिलेगी।

पासवान ने कहा कि अक्सर चीनी मिलों की आर्थिक तंगी की खबरें मीडिया की सुर्खियों में रहती है। चीनी मिलों की वित्तीय स्थिति को सुधारने के लिए सरकार ने ये निर्णय लिया है। पासवान ने कहा कि सरकार की सोच है कि देश का गन्ना किसान आर्थिक रूप से समपन्न हो और उनकी आमदनी बढ़े साथ ही चीनी मिलों की वित्तीय स्थिति में सुधार हो। सरकार की इस पहल से एक ओऱ जहां चीनी मिलों की स्थिति सुधरेगी वहीं गन्ना किसानों को समय पर उनका बकाया चुकाने में मदद मिलने के साथ ही पर्यावरण प्रदूषण को कम करने में भी मदद मिलेगी। पासवान ने कहा कि सरकार नई चीनी मिलों को शुरु करने के लिए भी समय समय पर निर्णय लेती रहती है। मोदी सरकार के आने के बाद देश में कई राज्यों में नई चीनी मिलें शुरु की गयी गयी है। जो चीनी मिलें आर्थिक रूप से कमजोर थी उनके जीर्णोद्दार के लिए भी काम किया गया है। पासवान ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तारीफ करते हए कहा कि केन्द्र सरकार की किसान हितैषी नीतियों की वजह से आज देश में न केवल गन्ना उत्पादन बढ़ रहा है बल्कि चीनी उत्पादन बढ़ने से इसके निर्यात में भी बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here