पंजाब सरकार चीनी मिल के विस्तार पर खर्च करेगी 108 करोड़ रुपये

पंजाब में सरकार चीनी मिल की स्थापित क्षमता बढ़ाने पर जोर दे रही है। इसके लिए सरकार 108 करोड़ रुपये खर्च करेगी।

पंजाब के सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने 62 साल पुरानी भोगपुर चीनी मिल का दौरा किया और बताया की मिल की पेराई क्षमता बढ़ाकर 3,000 टन प्रतिदिन की जाएगी। यह संयंत्र 2019-2020 के पेराई सत्र के लिए चालू हो जाएगा।

रंधावा ने कहा कि विस्तार और आधुनिकीकरण के साथ एक कोजेनरेशन प्लांट स्थापित किया गया है जो 15 मेगा वाट बिजली का उत्पादन करेगा, जिसमें से 8.54 मेगावाट बिजली राज्य के स्वामित्व वाली बिजली उपक्रम पीएसपीसीएल को दिया जाएगा।

भोगपुर चीनी मिल पे बहुत सारे गन्ना किसान निर्भर है और पेराई क्षमता बढ़ने पर यह किसानो की आर्थिक स्तिथी में मददगार साबित होगा।

उन्होने स्पष्ट रूप से कहा कि राज्य में कोई सहकारी चीनी मिल बंद नहीं होगी और इसके बजाय उनके पुनरुद्धार को सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here