सरकार मौसम पूर्वानुमान के लिए ले रही है आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का सहारा

303

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

नई दिल्ली: कृषि मंत्रालय ने खरीफ फसल सीजन 2019 के लिए मध्यप्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र के राज्यों भोपाल, राजकोट और नांदेड़ के तीन जिलों में मौसम के पूर्वानुमान और मिट्टी की नमी के बारे में एक पायलट अध्ययन करने के लिए आईटी प्रमुख आईबीएम के साथ स्टेटमेंट ऑफ इंटेंट (एसओआई) पर हस्ताक्षर किया है।

बेहतर उत्पादन के लिए पानी और फसल प्रबंधन के बारे में निर्णय लेने के लिए किसानों को मदद के मकसद से मौसम के पूर्वानुमान और मिट्टी की नमी की जानकारी प्रदान करने के लिए आईबीएम के वाटसन डिसिजन प्लेटफॉर्म आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) और मौसम प्रौद्योगिकी के माध्यम से कृषि के क्षेत्र में समाधान प्रदान करेगा।

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि डिजिटल प्रौद्योगिकियों के उपयोग से किसानों को अपनी आय बढ़ाने और भारतीय कृषि को बदलने में मदद मिलेगी।

“अगली पीढ़ी की तकनीकों जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) और बेहतर अंतर्दृष्टि के लिए सही मौसम डेटा का उपयोग तेजी से और अधिक सूचित कृषि निर्णय लेने में मदद करेगा,” उन्होंने कहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here