पाकिस्तान सरकार द्वारा चीनी की कीमतें कम करने का प्रयास

215

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के सूचना मंत्री शिबली फराज ने कहा, सरकार ने दैनिक उपयोग की वस्तुओं, विशेषकर गेहूं के आटे और चीनी की कीमतों को कम करने के लिए कई कदम उठाए हैं और गरीबों को राहत देने के लिए “सब्सिडी” योजना बना रही है। प्रधान मंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में मुद्रास्फीति और दैनिक उपयोग की वस्तुओं की कीमतों की समीक्षा बैठक के बाद एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए, मंत्री फराज ने पिछली सरकारों पर व्यक्तिगत लाभ और अमीरों के लिए नीतियां बनाने का आरोप लगाया, जिससे राज्य की संस्थाएं कमजोर हुईं।

फराज ने कहा, सरकार आटा, चीनी और दैनिक उपयोग की अन्य वस्तुओं की कीमतें कम करने के लिए हर संभव कदम उठा रही है। सरकार किसी भी कीमत पर जरूरी सामानों की कीमतों में कमी करेगी। उन्होंने दावा किया की, प्रधानमंत्री खान की नीतियों का फोकस गरीब और पिछड़े वर्गों के कल्याण पर है, जो दैनिक उपयोग की वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी से सीधे प्रभावित होते हैं। सूचना मंत्री फराज के अनुसार, प्रधानमंत्री नियमित रूप से मुद्रास्फीति और कीमतों पर ब्रीफिंग कर रहे थे, और वे प्रांतीय सरकारों को उनके प्रभावी नियंत्रण के लिए कदम उठाने के निर्देश जारी कर रहे थे। फ़राज़ ने कहा कि, चीनी आयात करने का उद्देश्य उनकी कीमतों को कम करने के लिए उनकी आपूर्ति में सुधार करना था। उन्होंने कहा कि,सार्वजनिक और निजी दोनों क्षेत्र बाजार में कीमतों को कम करने के लिए चीनी का आयात कर रहे हैं। सरकार चीनी जमाखोरों पर भी नजर रखें हुए है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here