कोरोना वायरस संकट के बीच गुरुदत्त शुगर्स ने निभाई सामाजिक प्रतिबद्धता

324

कोल्हापुर: भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब लॉकडाउन का ऐलान किया तब कोल्हापुर जिले के गुरुदत्त शुगर्स के क्षेत्र में काफी सारा गन्ना खेतों में खडा था। लॉकडाउन के कारण पेराई पर संदेह के बादल मंडरा रहे थे। ऐसी दुविधा में भी गुरुदत्त शुगर्स ने एक तरफ कोरोना वायरस को रोकने के लिए कई सारे कदम उठाकर अपनी सामाजिक प्रतिबद्धता को निभाया और दूसरी तरफ मिल क्षेत्र के सभी गन्ने की पेराई करके किसानों को भी राहत दे दी।

लॉकडाउन ऐलान होने के बाद, गुरुदत्त शुगर्स के चेयरमैन माधवराव घाटगेजी ने मिल के अधिकारीयों के साथ मीटिंग लेकर यह आदेश दिया की प्रशासन द्वारा निर्देशित किये गये सारे नियमों का पालन करते हुये जब तक पूरा गन्ना खेतो से नहीं कट जाता तब तक मिल बंद नहीं होनी चाहिए। मिल द्वारा यह कदम गन्ना किसान के भलाई के लिए काफी सराहनीय है।

गुरुदत्त शुगर्स के गुरुदत्त ट्रस्ट ने व्हाइट आर्मी, पास रेस्क्यू फ़ोर्स और वजीर रेस्क्यू फ़ोर्स के साथ मिलकर गावों में कोरोना वायरस के खिलाफ जनजागरूकता अभियान शुरू किया है। इन टीम्स को लगने वाली सबी प्रकार की मदत मिल द्वारा दी जा रही है। जैसे मास्क, हॅन्ड सॅनिटायझर, जीवनावश्यक वस्तू का किट इत्यादी।

गुरुदत शुगर्स ने हमेशा से किसानों के हितों का पूरी तरह खयाल रखा है। समय पर एफआरपी भुगतान के साथ किसानों के लिए कई सारी कल्याणकारी योजनायें भी शुरू की गई है। इतना ही नही जब भी सुखा या बाढ़ जैसी आपत्ती आई, तब मिल प्रबंधन ने आगे आकर अपने सामाजिक प्रतिबद्धता को पूरी सिद्धत से निभाया है। अब भी जब कोरोना महामारी देश के सामने चुनौती बनकर खड़ी है, ऐसे वक़्त में मिल प्रबंधन ने परिसर के 14 गावों में सैनिटाइजेशन शुरू कर दिया है। मिल में अटके श्रमिक और उनके जानवरों का पूरी तरह से खयाल रखा जा रहा है। श्रमिकों को आवश्यक सामग्री दी जा रही है।

गुरुदत शुगर्स के कार्यकारी निदेशक राहुल घाटगेजी ने कहा की, जब चीन और अन्य देशों से कोरोना वायरस की बाते निकलकर सामने आ रही थी। अपने देश में कोरोना ने दस्तक दी थी, तब हमारे मिल के क्षेत्र में गन्ना खेतों में खड़ा था, जो गन्ना किसानों ने गुरुदत्त मिल के भरोसे पर आखरी तक रखा था। उस गन्ने की किसी भी हालत में पेराई करने की हमारी जिम्मेदारी थी। किसान और कटाई श्रमिकों के साथ मिलकर हम सभी गन्ने की पेराई करने में सफल रहे।

मिल में श्रमिकों के लिए हैण्ड सैनिटाइजर, मास्क मुहैय्या कराए गये, इतना ही नही मिल में काम करते वक़्त श्रमिकों ने सोशल डिस्टन्सिंग का भी पूरा खयाल रखा था। मिल के कृषि अधिकारी विजय जाधव ने कहा की, हमने किसान और श्रमिकों के साथ बैठक की और जल्द से जल्द गन्ना कटाई करने का फैसला लिया और जिसमे हम कामयाब हुए।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here