हरियाणा: गन्ना किसानों को पिछले सीजन के बकाए का इंतजार; 8 नवंबर को महापंचायत

800

अंबाला: नारायणगढ़ चीनी मिल का अगला पेराई सत्र नवंबर में शुरू होगा, लेकिन अप्रैल में समाप्त हुए पिछले पेराई सत्र के लिए किसानों का गन्ना बकाया भुगतान अभी बाकी है।

द ट्रिब्यून इंडिया में प्रकाशित खबर के मुताबिक, नारायणगढ़ चीनी मिल में पेराई सत्र पिछले साल 12 नवंबर को शुरू हुआ था और मिल ने लगभग 55.33 लाख क्विंटल गन्ने की पेराई की थी। सीजन 23 अप्रैल को समाप्त हो गया और 387 करोड़ रुपये के पोस्ट डेटेड चेक सहित 167 करोड़ रुपये का गन्ना भुगतान दिया गया है। नारायणगढ़ चीनी मिल द्वारा गन्ना भुगतान में देरी के बाद गन्ना किसानों ने शुक्रवार को शहजादपुर अनाज मंडी में बैठक की और बकाया भुगतान पर अंतिम फैसला लेने के लिए 8 नवंबर को महापंचायत का निर्णय लिया गया है।

भारतीय किसान यूनियन (चारुनी) के प्रवक्ता राजीव शर्मा ने कहा, पिछले पेराई सत्र का लगभग 19 करोड़ रुपये का भुगतान बाकी है। मिल ने घोषणा की है कि, वह अगले सत्र के लिए 20 से 25 नवंबर के बीच परिचालन शुरू करेगी, लेकिन हम मांग करते हैं कि परिचालन दूसरे सप्ताह से शुरू होना चाहिए। अगर सीजन में देरी होती है, तो किसानों को गेहूं बोने के लिए बहुत कम समय मिलेगा। भविष्य की कार्रवाई के निर्णय के लिए 8 नवंबर को एक महापंचायत बुलाई गई है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शुक्रवार को किसानों से मुलाकात करने वाले एसडीएम नारायणगढ़ वैशाली शर्मा ने कहा, हम नियमित आधार पर बकाए को चुकाने की कोशिश कर रहे हैं। गुरुवार को 35.73 लाख रुपये की राशि जारी की गई। मिल 20 नवंबर से परिचालन शुरू करेगी और भुगतान भी नियत समय पर किया जाएगा। बिजली उत्पादन के भुगतान के लिए मिल को 7.5 करोड़ रुपये मिलने वाला है। हमें उम्मीद है कि यह जल्द ही हो जाएगा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here