अब राजस्थान बना बाढ़ का अगला शिकार; रेस्क्यू के लिए सेना को बुलाया गया

372

जयपुर: देश भर के कई राज्यों में भारी बारिश और बाढ़ ने कहर बरपाया है। महाराष्ट्र, उत्तराखंड, केरल, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, जैसे राज्यों में बाढ़ अभी तक जानलेवा बनी हुई है। आपको बता दे, देश भर में बाढ़ की चपेट में आने से अब तक 238 लोगों की मौत हो चुकी है।

अब बाढ़ की स्तिथी राजस्थान में पैदा हो गयी है और इससे राज्य की गति धीमी हो गयी है। राज्य के सबसे प्रभावित हाड़ौती क्षेत्र के तीन जिलों – कोटा, छाबड़ा और बूंदी में कम से कम 5 लोग मारे गए है। फिलहाल रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है और हज़ारो लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।

कोटा का कैथून शहर एक द्वीप में तब्दील हो चूका है क्योंकि यहां 5 से 10 फीट तक पानी भर गया है। भारतीय सेना, राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) को राज्य के कोटा और बरंडी जिलों में तैनात किया गया है। रिपोर्ट के अनुसार, बारून जिले के छाबड़ा कस्बे से लगभग १५० और कैथून से ३५० लोगों को बचाया गया है।

MeT विभाग के अनुसार, जोधपुर, नागौर और पाली में अगले 24 घंटों के लिए रेड अलर्ट चेतावनी जारी की गई थी। सेना को सतर्क रहने के लिए कहा गया क्योंकि गुरुवार को कोटा, बारां, भीलवाड़ा, झालावाड़ और बूंदी जिलों में 160 मिमी से अधिक बारिश दर्ज की गई।

आपदा प्रबंधन, सहायता और नागरिक सुरक्षा विभाग के सचिव आशुतोष एटी पेडनेकर ने बताया कि तीन जिलों में बारिश से जुड़ी घटनाओं में पांच लोग मारे गए है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन राज्य से पानी के निरंतर प्रवाह के संबंध में मध्य प्रदेश सरकार के साथ लगातार संपर्क में है।

MeT विभाग के आंकड़ों के अनुसार, शुक्रवार सुबह 8.30 बजे तक चित्तौड़गढ़ में 124 मिमी, माउंट आबू में 118 मिमी, भीलवाड़ा में 117 मिमी, डबोक में 79.8 मिमी, अरणपुरा रोड में 72 मिमी और कोटा में 58 मिमी वर्षा दर्ज की गई।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here