बारिश ने मचाई तबाही; मुंबई, पुणे, कोल्हापुर जैसे शहरों में जल प्रलय से हालात बेकाबू

534

तीन दिन से लगातार हो रही बारिश ने मुंबई समेत राज्य के कई शहरों में बड़े पैमाने पर तबाही मचाई है। भारी बारिश ने महाराष्ट्र के कई हिस्सों में सामान्य जीवन को बाधित किया है और साथ ही साथ हवाई, सड़क और रेल यातायात पर भी इसका असर पड़ा है।

मुंबई, ठाणे, रायगड़, पालघर, रत्नागिरी, कोल्हापुर, नंदुरबार, नासिक, पुणे, गढ़चिरोली जैसे इलाकों में जल प्रलय जैसे हालत उत्पन्न हो गए है।

खबरों के मुताबिक, जिला अधिकारियों ने हज़ारों व्यक्तियों को बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों से निकाला गया है। पुणे से करीब 70 किलोमीटर दूर लोनावाला में रविवार सुबह घर की दीवार गिरने से दस वर्षीय कुणाल अजय डोडके की मौत हो गई और छोटी बहन घायल हो गई है। पुलिस ने कहा कि भारी बारिश के कारण दीवार ढह गयी होगी । बारिश से जुड़े एक और हादसे में शनिवार देर रात कोयना बांध के पास झरना में कार गिरने से दो लोगों की जान चली गयी।

पुणे शहर में, खडकवासला से मुथा नदी में छोड़े गए 41,000 क्यूसेक पानी के साथ, भिडे पुल जलमग्न हो गया और शहर में कई स्थानों पर ट्रैफिक की स्तिथि थी।

अगले 2 दिन तक बारिश के अनुमान के चलते, एहतियात के तौर पर मुंबई समेत राज्य के कई शहर ठाणे, रायगड़, पालघर, रत्नागिरी, कोल्हापुर, नंदुरबार, नासिक, गढ़चिरोली जिलों के स्कूलों को बंद कर दिया गया है। भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने पुणे, सतारा, नासिक, कोल्हापुर, पालघर और ठाणे जिलों में गुरूवार तक भारी बारिश का अनुमान लगाया है, जिसके चलते यहां अलर्ट जारी किया गया है।

मौजूदा हालात को देखते हुए ठाणे, रायगड़, पालघर, रत्नागिरी, कोल्हापुर, नंदुरबार, नासिक, गढ़चिरोली जिलों के स्कूलों को बंद कर दिया गया है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here