जिम्बाब्वे: ‘हिप्पो’ के चीनी उत्पादन में 11 प्रतिशत की गिरावट

161

हरारे : 31 मार्च 2020 तक हिप्पो वैली इस्टेट्स लिमिटेड का चीनी उत्पादन 11 प्रतिशत गिरकर 2,12,004 टन हो गया, जबकि पिछले वर्ष 2,38,965 टन उत्पादन हुआ था। हिप्पो ने चीनी उत्पादन में गिरावट के लिए गन्ने की मात्रा और गुणवत्ता दोनों में कमी को जिम्मेदार ठहराया। चीनी सीजन के दौरान कुल 19,69,000 टन गन्ने की पेराई की गई, जिसमें 10,09,000 टन गन्ना कंपनी का खुद का था और शेष किसानों द्वारा भेजा गया था। 2019 में, कंपनी का गन्ना 10,68,000 टन था, जबकि किसानों ने 7,94,000 टन दिया था।

‘हिप्पो’ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी आइडेन मेयर ने कहा की, मुद्रास्फीति के अनुरूप स्थानीय चीनी की कीमतों का समय पर समायोजन मार्जिन को बनाए रखने, पड़ोसी देशों को सट्टा व्यापार और अवैध निर्यात को कम करने, मुद्रास्फीति के उतारचढ़ाव में सामान्य व्यवहार करने में सफल रहें है। पिछले साल चक्रवात इडाई और अन्य रसद चुनौतियों के कारण बुनियादी ढांचे के नुकसान के परिणामस्वरूप निर्यात पर असर पड़ा था। चीनी की बिक्री की मात्रा में गिरावट के बावजूद राजस्व 48 प्रतिशत बढ़कर $ 3,7 बिलियन हो गया।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here