मैं गन्ना किसानों के साथ हूं और चीनी मिलों के खिलाफ उनकी मांगों के लिए आवाज उठाता रहूँगा: राजू शेट्टी

197

कोल्हापुर / पुणे : चीनी मंडी

लोकसभा चुनाव हारने के बाद, किसान नेता और स्वाभिमानी शेतकारी संगठन नेता राजू शेट्टी अब कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के साथ गठबंधन करके भाजपा और शिवसेना सरकार को घेरने के लिए तैयार हैं। भले ही वह खुद चुनाव नहीं लड़ रहे है, वह अपने उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने की रणनिती बना रहे है। शेट्टी का कहना हैं कि, युवा और नए चेहरे विपक्ष के भविष्य हैं और गन्‍ना बहुल पश्‍चिमी महाराष्ट्र क्षेत्र में बाढ़ के कारण चीनी उद्योग अगले साल प्रभावित हो सकता है।

राजू शेट्टी ने महाराष्ट्र चीनी उद्योग के ‘गॉडफादर’ कहे जानेवाले रांकापा नेता शरद पवार के खिलाफ मोर्चा खोला था, जिससे शेट्टी को गन्‍ना किसानों का पुरजोर समर्थन मिला। चीनी मिल मालिकों के खिलाफ शेट्टी के इस आक्रामक रवैय्ये के वजह से शेट्टी किसानों के मसिहा के रूप में उभरकर सामने आए। जिससे उन्हे राजनिती में भी अपार सफलता मिली और देखते देखते शेट्टी जिल्हा पंचायत सदस्य से आमदार और फिर सांसद भी चुने गए।

शेट्टी पर आरोप लगते रहे है की जब कांग्रेस-एनसीपी सत्ता में थी, तो उन्होंने कांग्रेस-एनसीपी पर चीनी मिल के मालिक के साथ सख्ती नहीं दिखाने के कारण उनपर आक्रमक हुआ करते थे, लेकिन अब वे उनके खिलाफ नरम पड़ गए है। इसपर जवाब देते हुए, शेट्टी ने कहा इस तरह बीजेपी मुझे बदनाम करना चाहती है। उदाहरण के लिए कोल्हापुर को लें। इस जिले में 23 चीनी मिलें हैं। दो को छोड़कर, अन्य सभी मालिक या तो भाजपा में शामिल हो गए हैं या उनके भाजपा नेताओं के साथ अच्छे संबंध है। अब मैं किसे निशाना बनाने वाला हूं? मैं गन्ना किसानों के साथ हूं और मैं चीनी मिलों के खिलाफ उनकी मांगों के लिए आवाज उठाता रहूँगा। लेकिन चीनी व्यवसायी भाजपा में चले गए हैं। अब कांग्रेस पर आक्रमण करने का क्या मतलब है? मुझे भाजपा के खिलाफ बात करनी है।

स्वाभिमानी शेतकरी संघठन का विधानसभा चुनाव का पूरा अभियान बाढ औ सरकार की विफलता मुद्दे पर घूम रहा है। स्वाभिमानी का आरोप है की, प्रशासन किसानों को आपदा के बारे में चेतावनी देने और आपदा प्रबंधन में विफल रहा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here