बांग्लादेश में खुदरा चीनी की कीमतों में बढ़ोतरी

286

ढाका: वैश्विक बाजार में तेजी के चलते स्थानीय खुदरा बाजार में चीनी की कीमत भी बढ़ रही है। बांग्लादेश शुगर एंड फूड इंडस्ट्रीज कॉरपोरेशन (BSFIC) के अनुसार, स्थानीय मिलों ने पिछले 2019-20 सीजन में केवल 82,000 टन चीनी का उत्पादन किया है। देश की बाजार में चीनी की मांग प्रति वर्ष 1.8 मिलियन टन है। चूंकि सरकारी चीनी मिलें बंद हैं, देश की चीनी की 90% से अधिक मांग आयातित चीनी से पूरी होती है। स्थानीय उपभोक्ताओं को पिछले कुछ दिनों से कीमतों में यह बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। न्यू मार्केट, कारवां बाजार, हटिरपूल कच्चा बाजार और जात्रा बाड़ी को देखने पर पता चला कि उपभोक्ता प्रति किलो चीनी 70-85 TK में खरीद रहे हैं।

बांग्लादेश शुगर डीलर बिजनेस एसोसिएशन के सदस्य मुस्तफिजुर हुसैन ने कहा, चीनी की कीमत बढ़ गई क्योंकि अधिकांश चीनी कच्ची चीनी के रूप में आयात की जाती है। बाद में रिफाइनरी से परिष्कृत और बेचते हैं। हमारी कई चीनी मिलें वर्तमान में नीतिगत समर्थन के कारण बंद हैं। दूसरी ओर, देश का चीनी बाजार वैश्विक बाजार पर निर्भर है, इसलिए जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत बढ़ती है, तो स्थानीय बाजार में भी ऐसा ही होता है। अप्रैल और जुलाई के बीच दक्षिण-मध्य ब्राजील में चीनी उत्पादन में गिरावट के कारण कीमतों में लगातार वृद्धि हुई थी। इससे चालू चीनी सीजन 2021-22 में वैश्विक अधिशेष में कमी आने की उम्मीद है, जिससे पिछले कुछ दिनों में कीमतों में तेजी आई है।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

1 COMMENT

  1. चीनी की किमतों के उतार चढ़ाव पर आपका कोई भी प्रकाश नहीं होता?
    चीनी की अनावश्यक सट्टेबाजी पर भी प्रकाश डाला जाना चाहिए!
    चीनी मिलों पर सरकार हर समय मददगार होती रहती है, जबकि चीनी मिलों का traders के साथ व्यवहार हमेशा दोयम दर्जे का रहता है। जबकि चीनी का भुगतान प्राप्त कर के ही माल की डिलीवरी देते हैं।
    खासकर UP के मिलों का।Entery Tax को लेकर,मिल वाले व्यापारियों को tax holiday unit का माल gaurnity के साथ बेचकर व्यापारियों को tax recovery के मंझधार में छोड़े हुए हैं। कोई सुनवाई न Balrampur group नाहिं Bajaj group द्वारा की जा रहीं हैं। Tax paid माल खरीद पर tax liability आ गई हैं।
    आपका सर्च इंजन यदि चीनी व्यापारी की समस्याओं को भी प्रस्तुत करने की कृपा करें तो मेहरबानी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here