चीनी विवाद : भारत नहीं हुआ टस से मस; ब्लॉक किया प्रतिद्वंद्वी देशों के WTO में अनुरोध को

231

नई दिल्ली: भारत ने ब्राजील, ऑस्ट्रेलिया और ग्वाटेमाला के विश्व व्यापार संगठन (WTO) में भारतीय चीनी सब्सिडी के खिलाफ विवाद पैनल स्थापित करने के अनुरोध को ब्लॉक कर दिया है।

रिपोर्टों के अनुसार, 21 जुलाई को डब्ल्यूटीओ के विवाद निपटान निकाय (DSB) की एक बैठक के दौरान, भारत ने कहा कि उसकी सब्सिडी डब्ल्यूटीओ के नियमों के अनुरूप है और तीन देशों से पारस्परिक रूप से सहमत समाधान पर पहुंचने का अनुरोध किया है।

अगली विवाद निपटान निकाय बैठक 15 अगस्त को होनी है, जहां तीन देश विवाद पैनल गठित करने के अपने अनुरोध को नवीनीकृत कर सकते हैं। और विश्व व्यापार संगठन के मानदंडों के अनुसार, भारत दूसरे अनुरोध को रोक नहीं सकता है। इन देशों का आरोप है कि भारत की चीनी सब्सिडी वैश्विक व्यापार नियमों के असंगत है और चीनी बाजार को विकृत कर रही है।

रिपोर्टों के अनुसार, सरकार अधिशेष को कम करने के लिए नई चीनी निर्यात नीति तैयार करने पर विचार कर रही है और विश्व व्यापार संगठन के नियमों का उल्लंघन किए बिना, भारत अपनी चीनी निर्यात सब्सिडी को जारी रखेगा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here