निर्यात सब्सिडी के बिना भारतीय चीनी उद्योग डगमगा सकता है: आर्चर कंसल्टिंग

949

नई दिल्ली: घरेलू और वैश्विक चीनी उद्योग भारत सरकार की निर्यात नीति के फैसले की प्रतीक्षा कर रहे हैं। शुक्रवार को, खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि, वर्तमान में सरकार चीनी निर्यात सब्सिडी पर विचार नहीं कर रही है क्योंकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चीनी की कीमतें स्थिर हैं। उन्होंने साथ में यह भी कहा की, आवश्यकता पड़ने पर मूल्यांकन किया जाएगा।

मंत्री गोयल के वक्तव्य पर टिप्पणी करते हुए, आर्चर कंसल्टिंग के निदेशक अर्नाल्डो लुइज कोरेरा ने कहा की, मुझे लगता है कि इस फैसले से भारत के घरेलू चीनी बाजार डगमगाने होने की संभावना है। उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि कोरोना वायरस महामारी की संभावित दूसरी लहर को देखना भी महत्वपूर्ण है, जो वैश्विक संदर्भ में चीनी खपत की स्थिति को प्रभावित कर सकती है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

1 COMMENT

  1. Sugar Mills alone is an unviable industry.
    Sugar complexes need to be established.
    A sugar complexes consists of the following;
    # Sugar Mill
    # Distillery
    # Paper Mill
    # Allied Chemicals
    # Cogeneration Plant
    # Potash Plant
    This is a model of viable Sugar Complex where sugar mill becomes a source for other plants and sugar an not so important product but a secondary product.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here