चीनी की कीमतों को कम करने के लिए इंडोनेशिया उठा रही है कदम

220

जकार्ता : कोरोना वायरस प्रकोप के कारण चीनी आयात में देरी और आपूर्ति में कमी के कारण इंडोनेशिया में चीनी की कीमतों में काफी बढ़ोतरी हुई है, जिससे उपभोक्ताओं में सरकार के खिलाफ नाराजगी बढ़ गई है। उच्च चीनी की कीमतों से निपटने के लिए इंडोनेशिया सरकार ने कवायद तेज कर दिए है। बुधवार को जकार्ता में आर्थिक मामलों के समन्वयक मंत्री एयरलांगा हार्टर्टो ने कहा कि, सरकार घरेलू बाजार की मांग को पूरा करने के लिए उद्योगों को दिया गया चीनी कोटा रिटेल मार्केट में डाईवरट कर रही है। उन्होंने कहा कि, कुछ आपूर्तिकर्ता देशों में लॉकडाउन के कारण चीनी के शिपमेंट में देरी हुई है।

अत्यधिक उच्च चीनी की कीमतों से चिंतित, राष्ट्रपति जोको विडोडो ने बुधवार को मंत्रिमंडल को कदम उठाने का आदेश दिया। विडोडो ने कहा कि,उच्च कीमतें उपभोक्ताओं को नुकसान पहुंचा रही हैं, जिनकी क्रय शक्ति पहले से ही बड़े पैमाने पर नौकरी में नुकसान से कमजोर हो गई है और दूसरी तरफ लॉकडाउन ने महामारी को जन्म दिया है। इंडोनेशिया में चीनी की खुदरा कीमतें लगभग चार वर्षों के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई हैं। थाईलैंड में कम फसल और भारत में राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के कारण इंडोनेशिया को चीनी आयात में बाधाओं का सामना करना पड़ा है। अमेरिकी कृषि विभाग के अनुसार, इंडोनेशिया का चीनी आयात 4.65 मिलियन टन हो सकता है, जो एक साल पहले 4.03 मिलियन टन था।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here