संपूर्ण पेराई योग्य गन्ना पेरने के बाद ही चीनी मिल बंद करने के निर्देश

1091

लखीमपुर: गन्ना सर्वे में होनेवाली धांधली रोकने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने कदम उठाये है, क्योंकि राज्य में इस सीजन में भी कई जिलों से पर्ची फर्जीवाड़े की शिकायते आई थी। गन्ना मंत्री सुरेश राणा व प्रमुख सचिव एवं आयुक्त के साथ समस्त नोडल अधिकारी, उपगन्ना आयुक्त व जिला गन्ना अधिकारियों की वीडियो कान्फ्रेंसिग के माध्यम से विभागीय समीक्षा की।

राणा ने निर्देश दिए की, चीनी मिलें खेतों में खड़े गन्ने का पुन: सर्वे एवं फीडिग कराकर पर्चियां जारी करे, और संपूर्ण पेराई योग्य गन्ने की पेराई के बाद ही चीनी मिल बंद करें।

उन्होंने गन्ना विभाग द्वारा विकसित की गई ईआरपी व्यवस्था के माध्यम से शत-प्रतिशत सर्वेक्षण कार्य जीपीएस द्वारा किए जाने की समीक्षा की। सर्वेक्षण कार्य में किसी भी हालत में किसी भी प्रकार का फर्जीवाड़ा नहीं होना चाहिए। इस बैठक में उन्होंने गन्ना बकाया भुगतान का भी जायजा लिया और जल्द से जल्द बकाया भुगतान करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कोई भी काम करते समय, जैसे की गन्ना सर्वे, सरकार द्वारा कोरोना से लड़ने के लिए सूचित की गयी नियमों का पालन किया जाए।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here