पश्चिमी उत्तर प्रदेश की चीनी मिलें 20 अक्टूबर से शुरू करेगी पेराई सत्र

214

मुरादाबाद: उत्तर प्रदेश अगले दस दिनों में पेराई सीजन शुरू होने जा रहा है। गन्ना विभाग और चीनी मिलों द्वारा पेराई की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी है। प्रदेश के अपर मुख्य सचिव, चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग संजय आर.भूसरेड्डी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पेराई की तैयारियों को लेकर जिलाधिकारियों के साथ बैठक की।

उन्होंने कहा कि पश्चिमी यूपी की चीनी मिलों द्वारा 20 अक्टूबर से पेराई सीजन शुरू होना चाहिए। बकाया गन्ना मूल्य भुगतान शासन की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में है, इसलिए पेराई सत्र प्रारम्भ करने से पूर्व अवशेष गन्ना मूल्य भुगतान कराना जरूरी है।

समीक्षा बैठक के अन्त में अपर मुख्य सचिव द्वारा सभी जिलाधिकारियों एवं चीनी मिलों के प्रधान प्रबन्धकों तथा विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि पेराई सत्र 2021-22 को आदर्श पेराई सत्र के रूप में संचालित कराना सुनिष्चित करें, जिससे प्रदेश के गन्ना किसानों का विश्वास सहकारी चीनी मिलों के प्रति और प्रगाढ हो। समीक्षा बैठक में मुख्यालय स्तर से प्रबन्ध निदेशक, सहकारी चीनी मिल संघ, रमाकान्त पाण्डेय, संयुक्त प्रबन्ध निदेशक, आर.पी. सिंह, अपर गन्ना आयुक्त/प्रबन्ध निदेशक, गन्ना संघ, वाई.एस. मलिक, अपर गन्ना आयुक्त/प्रबन्ध निदेशक बीज निगम, वी.के. शुक्ल, प्रधान प्रबन्धक परियोजना सुनील कुमार ओहरी, प्रधान प्रबन्धक, तकनीकी, विनोद कुमार एवं प्रधान प्रबन्धक, वित्त, अतुल खन्ना द्वारा प्रतिभाग किया गया।

जागरण डॉट कॉम में प्रकाशित खबर के मुताबिक, जिला गन्ना अधिकारी अजय सिंह ने बताया कि, मुरादाबाद की रानी नांगल, अगवानपुर, बिलारी समेत चारों चीनी मिलों की तैयारियां हो चुकी है। शासन की निर्धारित तिथि पर बिना किसी दिक्कत के पेराई शुरू हो जाएगी।

 

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here