डालमिया चीनी मिल की जवाहर ईकाई ने शुरु किया नया गन्ना पैराई सत्र

सीतापुर, 15, नवम्बर: देश के सबसे बड़े गन्ना उत्पादक प्रदेश उत्तर प्रदेश में 2019-20 का गन्ना पैराई सत्र शुरु हो चुका है। बीते काफ़ी दिन से कई चीनी मिलें इसकी तैयारी कर रही थी। पैराई स्तर में सूबे की डालमिया चीनी मिल की सीतापुर स्थित जवाहर चीनी मिल इकाई ने भी इसकी तैयारी कर ली है। इसी क्रम में जवाहर चीनी मिल ने पैराई सत्र की शुरुआत के लिये ज़िले के गन्ना उत्पादक किसानों को आमंत्रित किया और मिल प्रांगण में प्रबंधन से जुड़े अधिकारियों और अन्य अतिंथियो की मौजूदगी में विधिवत पूजा अर्चना की गयी और वैदिक मंत्रोच्चार के साथ पैराई सत्र को चालू किया। पूजा पाठ का कार्य आचार्य निमिष राजगुरु राजा पंडित ने कराया।

इस दौरान मुख्य अतिथि के तौर पर महोली विधायक शशांक त्रिवेदी के अलावा अतिथि के रूप में गन्ना किसान, जन प्रतिनिधि और प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद रहे। पूजा पाठ के बाद चीनी मिल के अधिशासी निदेशक टीएन सिंह ने कहा कि गन्ना पैराई सत्र को लेकर हम काफ़ी दिनों से तैयारियाँ कर रहे थे। पैराई सत्र के दौरान गन्ना किसानों को कोई दिक़्क़त ना हो इसके भी पुख़्ता इन्तज़ाम किये गए है। पर्ची निगमन की व्यवस्था को दुरुस्त किया गया है। किसानों की सुविधा के लिेए चीनी मिल के अन्दर और बाहर गन्ना क्रय केन्द्र बनाये गए है जहां गन्ना ख़रीदा जा रहा है।

समय पर गन्ना पैराई सत्र शुरु होने से यहाँ गन्ना किसान भी खुश दिखे। सबसे पहले किसान बैलगाड़ी और ट्रेक्टर से मिल के गेट पर गन्ना लेकर पहुंचे। किसानों का मुख्य अतिथि शशांक त्रिवेदी ने तिलक और चंवर लगाकर स्वागत किया गया।

इस दौरान मुख्य अतिथि और अन्य व्यक्तियों ने चीनी मिल के डोंगे में गन्ना डालकर नए पैराई सत्र की शुरुआत की। इस दौरान महोली गन्ना विकास संघ के चेयरमैन रामनारायण त्रिवेदी ने किसानों से अपील की कि गन्ना पर्ची मिलने के बाद ही गन्ने की कटाई शुरु करें ताकि उन्हें मिल तक आकर इन्तज़ार न करना पड़े। इस अवसर पर चीनी मिल के महाप्रबंधक आशीष बंसल ने कहा कि चीनी मिले किसानों के हित को ध्यान में रखकर काम कर रही है ताकि किसानों को गन्ना लाने के दौरान कोई दिक़्क़त न हो और समय पर पैराई सत्र समाप्त हो।

मीडिया से बात करते हुए जवाहरपुर के वरिष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक जीपी झा ने कहा कि समय पर पैराई शुरु हो और गन्ना किसानों को मिलों तक गन्ने की निर्बाध आपूर्ति हो इसके लिए पहले से ही शासनादेश सभी चीनी मिलों को भेजे जा चुके है। उम्मीद है कि इस साल का गन्ना पेराई सत्र किसानों और चीनी मिलों के लिए बेहद शकुनदायी होगा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here