कोरोनो वायरस से जंग: झारखंड सरकार ने राज्य में सभी डिस्टलरीज को अल्कोहल आधारित सैनिटाइजर बनाने की दी अनुमति

202

कोरोना वायरस का संकट बढ़ता ही जा रहा है। दिनोंदिन भारत में इसके मामलों में बढ़ोतरी हो रही है। देश में कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए दिनरात हैंड सैनिटाइजर्स और अन्य उत्पादन तैयार किये जा रहे है। कोरोना वायरस से जंग जितने के लिए अब डिस्टलरीज और चीनी मिलें सैनिटाइजर के उत्पादन के लिए जुट चुकी है।

कोरोनो वायरस के व्यापक प्रसार के मद्देनजर, केंद्र सरकार ने “हैंड सैनिटाइजर” को एक आवश्यक वस्तु के रूप में अधिसूचित किया है। रिपोर्टों के अनुसार, हैंड सैनिटाइज़र की माँग में भारी वृद्धि हुई और मौजूदा विनिर्माण सुविधाएँ माँग को पूरा करने में असमर्थ थीं। इसी के साथ सैनिटाइज़र कि ब्लैक मार्केटिंग और जमाखोरी के भी कई मामले सामने आये। हैंड सैनिटाइज़र की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए, झारखंड सरकार ने राज्य के सभी डिस्टिलरीज को अलकोहल आधारित हैंड सैनिटाइज़र के उत्पादन की अनुमति दी है।

100 मिलीलीटर के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा अनुशंसित सूत्रीकरण:
Ethanol 80 ml
Glycerol 1.45 ml
Hydrogen peroxide solution H2O2 – 0.125 ml
Purified water- a sufficient quantity to make up to 100 ml

पारित आदेश के अनुसार, राज्य औषधि नियंत्रण निदेशालय, झारखंड ने उपरोक्त फॉर्मूले के आधार पर सभी डिस्टिलरीज को हैंड सैनिटाइजर बनाने की अनुमति दी गई है।

अधिसूचना देखने के लिए यहां क्लिक करें: Notification

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here