जमैका: भारी नुकसान के कारण एपल्टन मिल बंद होने के कगार पर

188

किंगस्टन : सेंट एलिजाबेथ के सिलोआ स्थित एपल्टन एस्टेट चीनी मिल पर निर्भर समुदाय को नौकरी जाने का डर सता रहा है। जे रेय अँड नेफ्यू लिमिटेड के स्वामित्व वाली इस एपल्टन एस्टेट चीनी मिल को 2019-2020 सीजन के दौरान भारी नुकसान हुआ है। जिसके कारण कंपनी कहीं चीनी का उत्पादन बंद ना कर द, ऐसा डर इस मिल पर निर्भर बडे समुदाय को है। चीनी उत्पादन में निरंतर नुकसान और वैश्विक कोरोना वायरस महामारी के कारण जे रेय अँड नेफ्यू लिमिटेड की वित्तीय स्थिती काफी कमजोर हुई है, जिसके परिणामस्वरूप मिल बंद होने की चर्चा जोरों पर है। नकारात्मक आर्थीक प्रभाव ने कंपनी को एपल्टन मिल के भविष्य के बारे में परामर्श करने के लिए मजबूर किया है। एपल्टन एस्टेट ने एक दशक से अधिक समय तक चीनी के भारी नुकसान को बरकरार रखा है।

हालांकि, जमैका गन्ना किसान संघ के अधिकारी सेंट एलिजाबेथ ने कहा कि, उन्हें बुधवार को एक बैठक में बताया गया कि मिल बंद हो रही है। एपल्टन, पैन कैरिबियन और वर्थ पार्क एस्टेट ने 2019-2020 चीनी फसल वर्ष में कुल मिलाकर 43,000 टन चीनी का उत्पादन किया था, जिसमें एपल्टन मिल का योगदान महज 11,000 टन था। बुधवार को जारी अपनी प्रेस विज्ञप्ति में, जे रेय अँड नेफ्यू लिमिटेड ने कहा कि, कंपनी आगे के रास्ते के लिए यूनियनों और अन्य हितधारकों के साथ परामर्श शुरू करेगा।

यह न्यूज़ सुनने के लिए प्ले बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here