प्रमुख सचिव, चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास, उत्तर प्रदेश, के कर-कमलों से नियुक्ति पत्र पाकर कनिष्ठ सहायकों के चेहरें खिले  

1760

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये

प्रदेश सरकार  युवाओ को  रोज़गार मुहैय्या करने के लिए कृत संकल्प है। इसी कड़ी में आज प्रमुख  सचिव, चीनी उधोग एवं गन्ना विकास द्वारा लाल बहादुर शास्री गन्ना किसान संसथान में  उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के माध्यम से चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किया गया। नियुक्त पत्र वितरण के साथ-साथ विभागीय क्रियाकलापों का सेक्षिप्त परिचय एवं प्रारम्भिक प्रशिक्षण भी दिया गया।

प्रमुख  सचिव/आयुक्त, गन्ना एवं चीनी ने नव-नियुक्त कनिष्ठ सहायकों को सम्बोधित  करते हुए बताया की चीनी विभाग का मुख्या कार्य चीनी उत्पादन से जुड़ी मिलों तथा खाण्डसारी इकाइयों से सम्बंधित कानून के क्रियान्वयन पर निगरानी रखना है। उन्होंने नवनियुक्त अभारतीयों को राजकीय कार्य के दौरान  गोपनीयता एवं महिलाओ  के साथ  सद्व्यवहार एवं व्यक्तित्व की शुद्धता और पक्षपात रहित कार्यप्रणाली तथा शासकीय सेवा के दौरान कर्मचारी आचरण संहिता  के अनुपालन की अनिवार्यता से सम्भंदित व्याख्यान भी दिया।

नव नियुक्त अभ्यर्थियों को प्रशिक्षण के दौरान सम्बोधित करते हुए अपर चीनी आयुक्त श्री राकेश कुमार मिश्र द्वारा बताया गया कि  राजकीय सेवा के दौरान  कामिर्को को शासकीय प्रतिबंधू का अनुपालन करना अनिवार्य है। इसी क्रम में श्री पवन कुमार गंगवार अपर गन्ना आयुक्त (प्रशासन) ने कर्मचारी आचरण संहिता  के नियम -२७, २७ए के कठोर अनुपालन की हिदायत दी। सुश्री नीलम द्विवेदी,  खाण्डसारी निरीक्षक द्वारा चीनी विभाग के पदानुक्रम एवं विभागीय  संरचना से जुड़ी जानकारी के साथ -साथ गन्ना खरीद एवं आपूर्ति विनियमन तथा खाण्डसारी एक्ट के तथ्यों एवं वाद दायर करने की प्रकिया पर विस्तृत  प्रकाश  डाला गया।

नवनियुक्त अभ्यर्थियों को दिनांक ०१ जुलाई, २०१९ से १५ दिवस के अंदर सम्बंधित तैनाती स्थान पर अपनी योगदान आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश भी जारी किेये  गये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here