कर्नाटक: मायशुगर मिल को लेकर मांड्या में विरोध प्रदर्शन

131

मंड्या: कृषि कानूनों के खिलाफ और मायशुगर (मैसूर शुगर) मिल को फिर से शुरू करने की मांग को लेकर कांग्रेस युवा विंग के सदस्यों ने शुक्रवार को मांड्या में बैलगाड़ी और ट्रेक्टर रैली निकालकर जोरदार विरोध प्रदर्शन किया। 100 से अधिक बैलगाड़ी, 45 ट्रैक्टर और सैकड़ों मोटरबाइक रैली का हिस्सा थे। रैली मायशुगर चीनी मिल के यहाँ शुरू हुई और डिप्टी कमिश्नर के कार्यालय में समाप्त हुई। आंदोलनकारियों ने राज्य और केंद्र सरकारों के खिलाफ नारे लगाए। पूर्व मंत्री एन चेलुवरायस्वामी ने आंदोलन का नेतृत्व किया। पूर्व सांसद जी मेडगोड़ा ने रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। पूर्व मंत्री पी एम नरेंद्रस्वामी और सी डी गंगाधर रैली में शामिल थे।

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि, मायशुगर चीनी मिल बंद होने से सैकड़ों किसान प्रभावित हुए हैं। उन्होंने निजी कंपनी को 40 साल के लिए मिल को लीज पर देने के सरकार के फैसले का विरोध किया और सरकार से मिल को चलाने के लिए कदम उठाने की मांग की। केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों की निंदा करते हुए, उन्होंने दावा किया कि यह कानून किसानों के लिए मौत है। किसान दिल्ली में पिछले 110 दिनों से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन सरकार ने उनकी मांगों पर विचार नहीं किया है और कॉर्पोरेट कंपनियों का पक्ष लेने की कोशिश कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here