कर्नाटक के प्रतिनिधि मंडल ने उत्तर प्रदेश के स्मार्ट गन्ना प्रोजेक्ट कि सराहना की

112

कर्नाटक प्रदेश के 15 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल ने गन्ना विकास विभाग में मुख्यालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ आज गन्ना आयुक्त कार्यालय के सभागार में बैठक की। स्टडी टूर पर आये प्रतिनिधि मंडल के साथ आयोजित इस बैठक की अध्यक्षता अपर मुख्य सचिव, चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास संजय आर.भूसरेड्डी द्वारा की गई।

प्रतिनिधि मंडल को सम्बोधित करते हुए श्री भूसरेड्डी ने कहा कि गन्ना विकास विभाग द्वारा अपने हितधारकों के पक्ष में निरन्तर कड़ी मेहनत की गई जिसका प्रतिफल है कि विभाग द्वारा गन्ना मूल्य भुगतान, गन्ना पेराई, चीनी उत्पादन, चीनी परता आदि के क्षेत्र में ऐतिहासिक रिकार्ड कायम किये गये है। उन्होंने एस्क्रो एकाउन्ट, ई.आर.पी., खाण्डसारी, फार्म मशीनरी बैंक आदि के क्षेत्र में हुए क्रांतिकारी परिवर्तनों एवं कोविड-19 के दौरान चीनी उद्योग के निरंतर संचालन से सम्बन्धित तथ्यों से प्रतिनिधि मंडल को अवगत कराया, तथा कर्नाटक प्रदेश में चीनी उद्योग के विषय में प्रतिनिधि मंडल से जानकारी ली।

बैठक में प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों द्वारा कर्नाटक राज्य में चीनी उद्योग के समक्ष आ रही तकनीकी चुनौतियों, प्रायोगिक ज्ञान की सीमाओं, अनुसंधान, गन्ना ढुलाई आदि विभिन्न मुद्दों पर आ रही कठिनाईयों के सम्बन्ध में चर्चा की गई। प्रतिनिधि मंडल द्वारा उ.प्र. की गन्ना उद्योग विकास नीति एवं राज्य परामर्शित मूल्य निर्धारण प्रक्रिया, फसल बीमा, सहकारी गन्ना विकास समितियों की कार्य प्रणाली, ई-गन्ना एप, गन्ना शोध आदि के बारे में भी विस्तृत विचार विमर्श कर जानकारी प्राप्त की गयी ।

कर्नाटक से आये 15 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल में कर्नाटक सरकार के 02 अधिकारी, शुगरकेन कन्ट्रोल बोर्ड के 06 नामित सदस्य एवं एस. निजलिंगप्पा शुगर इस्टीट्यूट, बेलगावी, कर्नाटक की गर्वनिंग काउन्सिल के 07 सदस्यों द्वारा बैठक में प्रतिभाग किया। इनमें मुख्य रूप से एस. निजलिंगप्पा शुगर इस्टीट्यूट की एग्रीकल्चर डिवीजन के प्रमुख श्री एन.आर. येकेली, एस.निजलिंगप्पा शुगर इस्टीट्यूट के उपाध्यक्ष श्री अशोक पाटिल, इण्डियन शुगर केन फामर्स एसोशियेशन के अध्यक्ष श्री के.शान्ताकुमार के साथ अन्य प्रतिनिधियों में से श्री वैंकटेश, वी.एच.विदाई, कृष्णकान्त रेड्डी, श्री रमेश अन्नप्पा आदि ने अपने विचार रखे।

गन्ना विभाग के अपर गन्ना आयुक्त, मुख्यालय श्री वाई.एस.मलिक, द्वारा प्राकृतिक आपदाओं के दौरान गन्ना फसल प्रबन्धन, फसल बीमा आदि के सम्बन्ध में बताया गया। अपर गन्ना आयुक्त श्री आर.पी. यादव, श्री वी.के. शुक्ल द्वारा भी अपने विचार रखे गये। संयुक्त गन्ना आयुक्त समिति श्री वी.बी. सिंह द्वारा सहकारी गन्ना विकास समितियों के संचालन एवं श्री विश्वेश कनौजिया द्वारा उ.प्र. गन्ना पूर्ति एवं खरीद विनियमन अधिनियम एवं सम्बन्धित नियमावली पर प्रस्तुतिकरण दिया गया। बैठक में उ.प्र. शुगरमिल एसोशियेशन के महासचिव, श्री दीपक गुप्तारा एवं उनके सहयोगी श्री डब्लू.एच. जैदी एवं आनन्द त्रिपाठी भी शामिल रहे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here