केन्या की मिलें चीनी आयात पर चाहती है प्रतिबंध

Listen to this article

दुनिया भर में चीनी की कीमतों में गिरावट के कारण कई देश संघर्ष कर रहे हैं। केन्या भी इसकी मार झेल रहा है, और देश के चीनी मिल अब चाहते हैं कि सरकार देश में चीनी आयात पर प्रतिबंध लगाए। चीनी मिलों का दावा है कि दूसरे देशों से सस्ते आयात के कारण उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

मिलर्स का दावा है कि कुछ देश सस्ती चीनी का निर्यात कर रहे हैं, जिससे घरेलू चीनी क्षेत्र में बाधा आ रही है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए, मुहोरोनी रिसीवर मैनेजर, फ्रांसिस ओको ने आशंका व्यक्त की कि अगर स्थिति ऐसी ही बनी रही तो कर्ज में डूबे चीनी मिलें और गहरे संकट में पड़ सकते हैं।

चीनी अधिशेष, कम कीमतऔर कोई लाभ नहीं न होने के कारण, कई चीनी मिलों को अपना परिचालन बंद करने के लिए मजबूर होना पड़ा। चीनी कारोबार में मंदी ने फ्रांसीसी चीनी कंपनी टेरेओस को भी प्रभावित किया है, जिसके कारण टेरोस कमोडिटीज ने 2020 तक केन्या और दक्षिण अफ्रीका में परिचालन और चीनी व्यापार बंद करने की घोषणा की है।

यह न्यूज़ सुनने के लिए इमेज के निचे के बटन को दबाये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here