केन्या आयात पर निर्भरता कम करने के लिए चीनी उद्योग को बढ़ावा देगा

474

नैरोबी: केन्या एसोसिएशन ऑफ मैन्युफैक्चरर्स द्वारा चीनी उप-क्षेत्र रणनीतिक योजना के शुभारंभ के दौरान, औद्योगीकरण, व्यापार और उद्यम विकास मंत्रालय के मुख्य प्रशासनिक सचिव लॉरेंस करंजा ने ऑनलाइन बैठक में कहा कि, क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय उत्पादकों की तुलना में उत्पादन की उच्च लागत देश के चीनी उद्योग के सामने एक बड़ी चुनौती है। स्थानीय रूप से उत्पादित चीनी की ज्यादा कीमत केन्या को चीनी आयात के लिए मजबूर करती है। उन्होंने कहा कि, केन्या ने आयात पर निर्भरता कम करने के लिए घरेलू चीनी उत्पादन को बढ़ावा देने की योजना बनाई है।

कृषि मंत्रालय के आंकड़ों से पता चला है कि, देश में सालाना लगभग 660,000 टन चीनी का उत्पादन होता है, जबकि घरेलू मांग को पूरा करने के लिए अन्य अफ्रीकी देशों से 300,000 टन चीनी का आयात किया जाता है। केन्या एसोसिएशन ऑफ मैन्युफैक्चरर्स में चीनी उप-क्षेत्र के अध्यक्ष जॉयस ओपोंडो ने कहा कि, नकद फसल कृषि क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है, क्योंकि यह 400,000 से अधिक छोटे पैमाने के किसानों के लिए आय का मुख्य स्रोत है। ओपोंडो ने कहा कि, पूर्वी अफ्रीकी राष्ट्र में वर्तमान में टेबल और रिफाइंड चीनी दोनों की कमी है, जो कि शुल्क-मुक्त आधार पर पूर्वी और दक्षिणी अफ्रीका (COMESA) आर्थिक ब्लॉक के लिए आम बाजार से आयात के माध्यम से पूरा किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here