थाईलैंड में इस साल कम बारिश का अनुमान; अगले सीजन हो सकता है गन्ना उत्पदान पर असर

449

बैंकाक: 2021-22 के फसल वर्ष के लिए सूखें के कारण गन्ने का उत्पादन नीचे जाने की उम्मीद है, और चीनी मिलों द्वारा फसलों को खरीदने के लिए कड़ी प्रतिस्पर्धा के बीच उच्च कीमतों की पेशकश करने की उम्मीद है। कम गन्ना उत्पादन, चीनी उत्पादन और निर्यात को प्रभावित करेगा।

थाई शुगर मिलर्स कॉरपोरेशन (TSMC) के महानिदेशक रंगसिट हियांग्राट ने कहा कि, थाईलैंड में इस साल कम बारिश हुई है, जिसके चलते नए फसल वर्ष में गन्ने का उत्पादन 70-75 मिलियन टन होने की उम्मीद है। फसल वर्ष 2020-21 में थाई गन्ना उत्पादन 8.20 मिलियन टन घटकर 66.7 मिलियन टन हो गया, जो 2019-20 में 74.9 मिलियन टन था। TSMC को उम्मीद है कि, चीनी मिलों द्वारा 2021-22 में 7 मिलियन टन से कम चीनी का उत्पादन होगा, जबकि 2017-18 में यह रिकॉर्ड 14.7 मिलियन टन उत्पादन हुआ था।

नेशनल फेडरेशन ऑफ गन्ना प्लांटर्स महासंघ के प्रमुख नरथिप अनंतसुक ने कहा, थाईलैंड और अन्य गन्ना उत्पादक देश सूखे का सामना कर रहे हैं और इसके कारण थाईलैंड में कुछ चीनी मिलों ने घोषणा की है कि वे 2021-22 में किसानों से 1,300 baht प्रति टन के हिसाब से गन्ना खरीदेंगे, जो कि 1,000 baht प्रति टन के सामान्य मूल्य से अधिक है। गन्ना उत्पादन सभी मिलों की आपूर्ति के लिए पर्याप्त नहीं होगा, इसलिए उन्हें प्रतिस्पर्धा करने के लिए मजबूर किया जाएगा।

व्हाट्सप्प पर चीनीमंडी के अपडेट्स प्राप्त करने के लिए, कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें.
WhatsApp Group Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here